International Mountain Day 2023: इस यूनिक थीम के साथ मनाया जा रहा है अंतरराष्ट्रीय पर्वत दिवस, जानें खासियत

भावना चौबे
Published on -

International Mountain Day 2023: घूमने फिरने का शौक सबको होता है। खासतौर पर पहाड़ी जगह पर घूमने का मजा ही कुछ और होता है।पहाड़ी जगह पर घूमने वाले लोगों के लिए आज का दिन बेहद खास है। हर साल 11 दिसंबर यानी कि आज पूरे विश्व में अंतरराष्ट्रीय पर्वत दिवस मनाया जाता है। पहाड़ी जगह पर घूमने जाने वाले लोगों को और वहां रहने वाले लोगों को इस दिन का महत्व बहुत अच्छे से पता होता है। अंतरराष्ट्रीय पर्वत दिवस मनाने का यह मकसद होता है कि लोगों को पहाड़ों पर हो रही दुर्घटनाओं के बारे में सावधान करना, लोगों के बढ़ते आगमन के चलते बढ़ते प्लास्टिक के कचरे को रोकना, इसके अलावा डेवलपमेंट के नाम पर हो रही कटाई चिंता का विषय है।

अंतर्राष्ट्रीय पर्वतीय दिवस की थीम हर साल अलग-अलग होती है, जो सतत पर्वतीय विकास के विभिन्न पहलुओं पर केंद्रित होती है। इस दिवस को मनाने का विशेष मकसद यही है कि पहाड़ों के महत्व को पहचानने के लिए लोगों को प्रोत्साहित किया जाए।

अंतर्राष्ट्रीय पर्व दिवस 2023 की थीम कैसी रहेगी?

हर साल अंतरराष्ट्रीय पर्वतीय दिवस के लिए अलग-अलग थीम बनाई जाती है और पूरे साल भर उस थीम पर पर्वतों के संरक्षण का काम किया जाता है। साल 2023 के अंतरराष्ट्रीय पर्वत दिवस की थीम रीस्टोरिंग माउंटेन इकोसिस्टम रखी गई है। अब इस थीम को लेकर पूरे साल पर्वत के संरक्षण पर काम किया जाएगा।

क्या है अंतरराष्ट्रीय पर्वत दिवस का इतिहास?

मुख्य रूप से अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस का उद्दीपन भूकंपों के अपशिक्षण के बाद किया गया था। इसका मुख्य उद्देश्य लोगों को पर्वत से जुड़ी समस्याओं और समृद्धि की आवश्यकता को समझाना और उत्साहित करना है।अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस का आयोजन पहली बार 2003 में हुआ था। इस वर्ष को “अंतर्राष्ट्रीय पर्वत वर्ष” घोषित किया गया था, जिसे संयुक्त राष्ट्र द्वारा समर्थन किया गया था। इसके साथ ही, पहला अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस मनाया गया और समृद्धि के लिए पर्वत क्षेत्र में सजगता बढ़ाने का प्रयास किया गया।

अंतर्राष्ट्रीय पर्वत दिवस का आयोजन हर साल 11 दिसंबर को किया जाता है। इस दिन विभिन्न संगठन और सरकारें विशेष कार्यक्रम आयोजित करके लोगों को पर्वत संरक्षण और उनके साथी पर्यावरणीय समस्याओं के प्रति जागरूक करने का प्रयास करते हैं। यह एक महत्वपूर्ण उत्सव है जो लोगों को पर्वतों की महत्वपूर्णता और सुरक्षा के प्रति सचेत करने का मौका प्रदान करता है।


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।

Other Latest News