Plant Care: लपट की वजह से सूख रहे हैं गुलाब? घबराएं नहीं, अपनाएं ये 4 आसान उपाय

Plant Care: गर्मियों का मौसम आते ही कई लोगों को अपने गुलाब के पौधों को सूखते हुए देखकर चिंता हो जाती है। तेज धूप और गर्म हवाएं इन नाजुक फूलों को नुकसान पहुंचा सकती हैं, जिससे पत्तियां पीली पड़ने लगती हैं, मुरझाने लगती हैं और फूल आना बंद हो जाता है। लेकिन घबराइए नहीं! कुछ आसान उपाय अपनाकर आप अपने गुलाब के पौधों को बचा सकते हैं और उन्हें फिर से खिलने में मदद कर सकते हैं।

भावना चौबे
Published on -
gardening

Plant Care: गुलाब, अपनी शानदार बनावट और मनमोहक सुंदरता के लिए जाना जाता है, फूलों का निर्विवाद राजा है। इसकी खुशबू दिल को मोह लेती है और रंगों की विविधता हर किसी को आकर्षित करती है। यही कारण है कि यह लगभग हर घर की शोभा बनता है। लेकिन गर्मी के मौसम में, जब तीखी धूप और गर्म हवाएं चलती हैं, तो गुलाब का यह राजा भी अपनी रौनक खोने लगता है। तेज धूप से इसकी पंखुड़ियां जलने लगती हैं और रंग फीका पड़ने लगता है। गर्म हवाएं नमी छीन लेती हैं, जिससे पौधा मुरझाने लगता है और फूलों की संख्या कम हो जाती है। यह गुलाब प्रेमियों के लिए एक बड़ी समस्या है, जो चाहते हैं कि उनके प्यारे फूल साल भर खिले रहें। लेकिन घबराइए नहीं, कुछ खास देखभाल से आप गर्मी के मौसम में भी गुलाबों की खूबसूरती बरकरार रख सकते हैं।

अपनाएं ये 4 आसान उपाय

  1. तेज हवाएं इनकी पत्तियों को निरदयता से पीला कर गिरा रही हैं, जो जमीन पर गिरकर मिट्टी को खराब कर सकती हैं। इससे और भी बड़ी मुसीबत ये है कि इन गिरी हुई पत्तियों में कीड़े लगने का खतरा बढ़ जाता है, जो आपके प्यारे गुलाबों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। ऐसे में जरा सी भी लापरवाही न करें! तुरंत झाड़ियों के आसपास गिरी हुई पत्तियों को साफ कर दें। साथ ही गर्मी से अपने गुलाबों का बचाव करें, सुबह शाम पानी दें, छाया का प्रबंध करें और गीली घास से मिट्टी में नमी बनाए रखें। ये आसान उपाय आपके गुलाबों को गर्मी के थपेड़ों से बचाकर उनकी खूबसूरती बरकरार रखेंगे।
  2. इसलिए गर्मी के मौसम में गुलाबों को तभी पानी दें, जब सूरज की किरणें धीमी पड़ जाएं। सुबह का समय, जब वातावरण ठंडा होता है, पानी देने के लिए सबसे उपयुक्त है। इससे पानी धीरे-धीरे जड़ों तक पहुंचता है और वाष्पीकरण कम होता है। नतीजतन, मिट्टी में नमी बनी रहती है, जो पौधों को हाइड्रेटेड और ताज़ा रखने में मदद करती है। साथ ही, सुबह का ताजा पानी गुलाबों को गर्मी के तनाव से लड़ने की शक्ति भी देता है।
  3. पौधों को ज़िंदगी देने वाला पानी कभी-कभी उन्हें नुकसान भी पहुंचा सकता है, अगर हम थोड़ी सी सावधानी न बरतें, तेज़ प्रेशर से या बहुत ऊंचाई से पानी का झोंका मिट्टी को धो देता है, जिससे जड़ें उखड़ जाती हैं या घायल हो जाती हैं। इसका नतीजा कमज़ोर पौधे और उनकी रुकी हुई वृद्धि होता है। इसलिए, प्यार से और धीरे-धीरे पानी दें, ताकि वो सीधे मिट्टी में समाए और जड़ों तक पहुंचे।
  4. गमलों में लगे गुलाबों के लिए गर्मी में ज़्यादा मिट्टी नुकसानदेह साबित हो सकती है। दरअसल, गमले में पूरी जगह मिट्टी से भर देने पर पानी देने और खाद डालने में दिक्कत होती है। खासकर गर्मी में, जब पानी जल्दी सूख जाता है, तो पूरा गमला भर जाने से पानी जड़ों तक पहुंचने से पहले ही वाष्पित हो सकता है। इसलिए गर्मी के मौसम में गुलाब के गमलों में थोड़ी जगह खाली छोड़ना फायदेमंद होता है। इतनी जगह होनी चाहिए कि आप आसानी से पानी और खाद डाल सकें।

(Disclaimer- यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं के आधार पर बताई गई है। MP Breaking News इसकी पुष्टि नहीं करता।)


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।

Other Latest News