Planting Tips: मॉनसून में पौधे रहेंगे हरे-भरे, ये टिप्स जरूर आजमाएं

Planting Tips: बारिश का मौसम बाग-बगीचों के लिए तो मानो सोने पर सुहागा होता है। धरती की प्यास बुझती है, पेड़-पौधे हरे-भरे हो जाते हैं, और फूलों की रंगत निखर आती है। लेकिन, इस मौसम में थोड़ी सी सावधानी भी बरतनी ज़रूरी है ताकि आपके बगीचे की खूबसूरती बरकरार रहे। आइए जानते हैं कुछ आसान टिप्स।

भावना चौबे
Published on -
gardening tips

Planting Tips: मानसून का मौसम आ गया है। बारिश की बूंदें धरती को सींच रही हैं, और चारों तरफ हरियाली का नजारा है। ऐसे में बालकनी में बैठकर पकौड़े और चाय की चुस्कियों के साथ बारिश का आनंद लेने का अपना ही मजा है। लेकिन इस मौसम में छोटे और हल्के पौधों को थोड़ा ध्यान देने की ज़रूरत होती है। वैसे तो बारिश का पानी प्राकृतिक रूप से पौधों की ग्रोथ के लिए फायदेमंद होता है, लेकिन ज़्यादा बारिश और हवा से नुकसान भी हो सकता है। चिंता न करें, इस आर्टिकल में हम आपको कुछ आसान टिप्स बताएंगे जिनकी मदद से आप बारिश के मौसम में भी अपनी बालकनी को हरा-भरा और खूबसूरत बनाए रख सकते हैं, तो आइए जानते हैं इन टिप्स के बारे में।

ये टिप्स जरूर आजमाएं

1. पौधों को तैयार करें

बारिश शुरू होने से पहले, नीचे की पत्तियों को हटा दें। यह सड़न से बचाता है और हवा के प्रवाह को बेहतर बनाता है। गमले में 3 भाग मिट्टी और 1 भाग गोबर की खाद का मिश्रण भरें। यह पोषण देता है और जल निकासी में सुधार करता है। गमले के ऊपरी हिस्से को थोड़ा खाली रखें ताकि पानी जमा न हो और जड़ें सड़ने से बच सकें।

2. कीटों से बचाव

1 हफ्ते में 1 बार नीम का तेल या लहसुन का अर्क जैसे होममेड पेस्टिसाइड का छिड़काव करें। यह कीटों और बीमारियों से बचाता है। नियमित रूप से पौधों का निरीक्षण करें और किसी भी कीट या बीमारी के लक्षण दिखने पर तुरंत उचित उपाय करें।

3. पौधों की वृद्धि

समय-समय पर पौधों की कटिंग करें। यह नई शाखाओं और पत्तियों को बढ़ने में मदद करता है। पौधों को धूप और हवा प्रदान करें। यह प्रकाश संश्लेषण और विकास के लिए आवश्यक है। नियमित रूप से खाद डालें। यह पौधों को पोषण देता है और उनकी वृद्धि को बढ़ावा देता है।

 

 

 


About Author
भावना चौबे

भावना चौबे

इस रंगीन दुनिया में खबरों का अपना अलग ही रंग होता है। यह रंग इतना चमकदार होता है कि सभी की आंखें खोल देता है। यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि कलम में बहुत ताकत होती है। इसी ताकत को बरकरार रखने के लिए मैं हर रोज पत्रकारिता के नए-नए पहलुओं को समझती और सीखती हूं। मैंने श्री वैष्णव इंस्टिट्यूट ऑफ़ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन इंदौर से बीए स्नातक किया है। अपनी रुचि को आगे बढ़ाते हुए, मैं अब DAVV यूनिवर्सिटी में इसी विषय में स्नातकोत्तर कर रही हूं। पत्रकारिता का यह सफर अभी शुरू हुआ है, लेकिन मैं इसमें आगे बढ़ने के लिए उत्सुक हूं। मुझे कंटेंट राइटिंग, कॉपी राइटिंग और वॉइस ओवर का अच्छा ज्ञान है। मुझे मनोरंजन, जीवनशैली और धर्म जैसे विषयों पर लिखना अच्छा लगता है। मेरा मानना है कि पत्रकारिता समाज का दर्पण है। यह समाज को सच दिखाने और लोगों को जागरूक करने का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। मैं अपनी लेखनी के माध्यम से समाज में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रयास करूंगी।

Other Latest News