Suicide : भोपाल में रहकर B.Com की पढ़ाई कर रही छात्रा ने की आत्महत्या, जांच में जुटी पुलिस

सागर की रहने वाली बीकॉम फाइनल ईयर (B.Com Final Year) की छात्रा ने निर्माणाधीन एक मकान के बाथरूम में फांसी लगाकर आत्महत्या (Suicide case) कर ली है। फिलहाल सूचना के बाद पहुंची पुलिस जांच में जुटी है। वहीं छात्रा के पास से किसी भी प्रकार का सुसाइड नोट (Suicide note) बरामद नहीं हुआ है।

भोपाल/सागर डेस्क रिपोर्ट। आए दिन युवक-युवतियों द्वारा आत्महत्या करने का मामला (Suicide case) सामने आते रहता है। ऐसा ही एक मामला भोपाल से सामने आया है, जहां सागर (Sagar) की रहने वाली एक छात्रा ने सुसाइड कर लिया है। युवती बीकॉम फाइनल ईयर (B.Com Final Year) की स्टूडेंट थी, जिसने घर के पास ही बन रहे एक मकान के बाथरूम में फांसी लगाकर (Committed suicide by hanging) अपनी जीवन लीला समाप्त कर दी है। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। इस दौरान पुलिस को किसी भी प्रकार का सुसाइड नोट (Suicide note) बरामद नहीं हुआ है। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि छात्रा ने अपने पढ़ाई के चलते आत्महत्या की है।

बीकॉम फाइनल ईयर की छात्रा की आत्महत्या

बताया जा रहा है कि छात्रा अंजलि पवार (Student Anjali Pawar) सागर (Sagar) की रहने वाली है। उसके पिता का नाम बलवंत पवार है। छात्रा अपने माता-पिता और बड़े भाइयों के साथ इंद्र विहार एयरपोर्ट (Indra Vihar Airport) पर रहती थी। छात्रा के आत्महत्या की सूचना कोहेफिजा पुलिस (Kohefija Police) को दी गई, जो मौके पर पहुंची। इस संबंध में कोहेफिजा पुलिस (Kohefija Police) ने कहा कि छात्रा बीकॉम फाइनल ईयर (B.Com Final Year) में पढ़ रही थी। जिसने एक निर्माणाधीन मकान में रविवार को फांसी लगाकर आत्महत्या (Hanged suicide) कर ली है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है। अभी आत्महत्या (suicide) का कारण स्पष्ट नहीं हुआ है। क्योंकि मैके से किसी भी प्रकार का सुसाइट नोट (Suicide note) नहीं मिला है।

ये भी पढ़े- कृषि मंत्री कमल पटेल की जबान फिसली, भरी सभा में राहुल गांधी को कहा मंदबुद्धि, देखिये वीडियो

छात्रा के पास नहीं था फोन, जताई जा रही ये आशंका

पुलिस ने बताया कि छात्रा ने घर के पास ही निर्माणाधीन मकान की बाथरूम में जाकर दुपट्टे से खुद को फांसी लगाई है। जब छात्रा काफी समय से घर नहीं लौटी तो परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की। इसी दौरान निर्माणाधीन मकान के बाथरूम में फंदे पर लटकता शव बरामद हुआ। जिसके बाद परिजनों ने आनन-फानन में पुलिस को सूचना दी। बता दें कि लॉक डाउन के बाद से ही सभी कक्षाएं ऑनलाइन लग रही थी। लेकिन अंजलि के पास मोबाइल नहीं होने की वजह से वह अपनी कक्षाएं नहीं कर पा रही थी। ऐसे में पुलिस ने आशंका जताई है कि छात्रा मानसिक तनाव और पढ़ाई के लिए परेशान होकर आत्महत्या को गले गला ली। वहीं मृतिका अंजलि के पिता सिक्योरिटी गार्ड का काम करते हैं। जबकि उसके दोनों बड़े भाई प्राइवेट नौकरी करते हैं। फिलहाल परिजनों ने अब तक कुछ भी नहीं कहा है।

मामले की जांच में जुटी पुलिस

करीब 15 दिन से मृतिका अंजली के पिता बलवंत अपने गांव गए हुए है। इस दौरान अंजलि अपने मां और बड़े भाई के साथ घर पर रह रही थी। रविवार को करीब 1 बजे अंजलि पास वाले निर्माणाधीन मकान में गई थी और जब शाम को बड़ा भाई घर आया तो उसने अपने मां से बहन के बारे में पूछा, तब मां ने कहा कि वह काफी समय से बाजू वाले मकान में गई है। लेकिन अब तक नहीं लौटी है। जिसके बाद परिजनों ने अंजलि की तलाश शुरू की। तभी उन्हें बाजू वाले मकान के बाथरूम में फांसी के फंदे पर लटकता हुआ शव मिला। ये पूरी जानकारी पुलिस ने दी है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।