2 साल बाद आईएएस को शो कॉज नोटिस, एसडीएम को बंधक बनाने का था आरोप

एसडीएम ने आरोप लगाया था कि कलेक्टर ने उन्हें रात 12 बजे घर पर बुलाया और उनका वाहन छीन लिया और 3 घंटे तक उन्हें बंगले में बंधक बनाकर रखा।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। आईएएस अधिकारी शीलेंद्र सिंह के खिलाफ तत्कालीन कमिश्नर की रिपोर्ट को आधार बनाकर शो कॉज नोटिस जारी किया गया है। उन पर दो साल पहले कलेक्टर रहते हुए अपने अधीनस्थ एसडीएम को बंधक बनाने का आरोप था।

यह भी पढ़ें…बीजेपी विधायक की सीएम से मांग, युवाओं को होगा यह बड़ा फायदा

विधानसभा में अतारांकित प्रश्न के जवाब में बीजेपी विधायक सीताशरण शर्मा ने सवाल किया था कि क्या अगस्त सितंबर 2019 में होशंगाबाद के तत्कालीन कलेक्टर शीलेंद्र सिंह और तत्कालीन एसडीएम रवीश श्रीवास्तव के बीच विवाद की जांच नर्मदा पुरम संभागायुक्त द्वारा की गई थी? यह भी पूछा गया था कि क्या आयोग की जांच रिपोर्ट में कलेक्टर द्वारा एसडीएम को रात 3 बजे तक घर पर रोका जाना, गेट गार्ड के कथन और वीडियो क्लिप के आधार पर वाहन को कलेक्टर बंगले पर रखवा लिए जाने का आरोप प्रमाणित पाया गया था? और यदि यह आरोप सत्य हैं तो क्या शीलेंद्र सिंह कदाचरण के दोषी हैं? सामान्य प्रशासन विभाग मुख्यमंत्री पर होने के नाते इसका उत्तर भी मुख्यमंत्री की ओर से आया और बताया गया कि आयुक्त नर्मदा पुरम संभाग के जांच प्रतिवेदन दिनांक 15 सितंबर के आधार पर शीलेंद्र सिंह तत्कालीन कलेक्टर होशंगाबाद के विरुद्ध अखिल भारतीय सेवाएं अनुशासन व अपील नियम के अंतर्गत 30 नवंबर 2021 को कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया गया है।

यह भी पढ़ें…रिटायर्ड प्रधानाध्यापिका का आरोप, सगे बेटे ने ही चुरा लिए उसके 15 लाख रुपये और जेवर

दरअसल सारा मामला 13 सितंबर 2019 का है जब होशंगाबाद के तत्कालीन कलेक्टर शीलेंद्र सिंह और एसडीएम रवीश श्रीवास्तव के बीच विवाद सामने आया था। एसडीएम ने आरोप लगाया था कि कलेक्टर ने उन्हें रात 12 बजे घर पर बुलाया और उनका वाहन छीन लिया और 3 घंटे तक उन्हें बंगले में बंधक बनाकर रखा। इस पूरे विवाद के पीछे की वजह रेत का अवैध उत्खनन सामने आया था। दरअसल कुलामणि रेत स्टॉक के लिए खनिज पोर्टल गुरुवार रात तक चालू था जबकि सरकार में इसे शाम को ही बंद कर दिया था। रात में स्टॉक पर एसडीएम जब वहां पहुंचे थे तो उन्हें 50 डंपर खड़े मिले थे और कार्रवाई के लिए जब उन्होंने खनिज अफसरों को बुलाना चाहा तो कलेक्टर ने उन्हें बंगले पर बुला लिया जहां दोनों के बीच जमकर विवाद हुआ।