अलीराजपुर : एसडीएम को प्रदेश सरकार के इस फैसले का मजाक उठाना पड़ा महंगा, नोटिस जारी कर जवाब माँगा

एसडीएम को नोटिस देकर जवाब तलब किया गया है।

अलीराजपुर, यतेन्द्र सिंह सोलंकी। जिले की एसडीएम को प्रदेश सरकार के इस फैसले पर सवाल उठाना महंगा पड गया है। क्योंकि प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए सरकार ने रात्रिकालीन कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है वहीं जिले की एसडीएम लक्ष्मी गामड़ ने फैसले को लेकर फेसबुक पर सवाल उठाना अब उनके लिए महंगा पड़ता दिख रहा है। उनकी यह पोस्ट फेसबुक पर वायरल हो रही है। जिसको लेकर कलेक्टर मनोज पुष्प के निर्देश पर एसडीएम को नोटिस देकर जवाब तलब किया गया है। इतना ही नहीं इस पोस्ट का परीक्षण भी प्रशासन द्वारा किया जा रहा है।

यह भी पढ़े… कॉपीराइट एक्ट मामला : जबलपुर में तंबाकू व्यापारी के घर पर मारा छापा

हम आपको बता दें कि एसडीएम की आईडी से की गई पोस्ट में लिखा गया था-’मेरे तो एक बात अब तक पल्ले ही न पड़ी कि कोरोना को कैसे पता चलता होगा कि रात के 11 बज गए तो बाहर निकलना है। सुबह के पांच बजते ही बिल में दुबकना है। बात तो सोचने वाली है न। आपको पता चल जाए तो प्लीज मुझे भी बताना। ‘इस पोस्ट पर कई लोगों ने कमेंट भी किए हैं। एक यूजर ने लिखा है कि सरकार का अंग होने के बाद भी इतनी कड़वी सच्चाई लिख देती हैं यह हिम्मतवाली अफसर। कुछ अन्य यूजर सिस्टम को लेकर भी सवाल उठाए हैं।

अलीराजपुर : एसडीएम को प्रदेश सरकार के इस फैसले का मजाक उठाना पड़ा महंगा, नोटिस जारी कर जवाब माँगा

यह भी पढ़े… MP Board : 9वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए जरूरी खबर, मंडल ने जारी किया नंबर

दरअसल, प्रशासन के अनुसार एसडीएम को नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है। जिसमें पूछा गया है कि यह पोस्ट आपके द्वारा किया गया है अथवा नहीं। यदि हां तो इसके पीछे क्या मंशा रही। जवाब मिलने के बाद आगे की कार्रवाई होगी। यह पोस्ट यहां इंटरनेट मीडिया पर भी वायरल हो रही है। कुछ लोग कह रहे हैं कि प्रशासनिक अफसर ने राज्य सरकार के निर्णय का मजाक उड़ाया है।

यह भी पढ़े… नये साल का जश्न भले ही मनाए मगर 11 बजे से पहले वापस घर पहुँच जाए

अपर कलेक्टर सी एल चनाप का कहना है कि जांच परिणाम के बाद अगली कारवाई की जायेगी।