अनूपपुर में हाथियों के झुंड ने ली 3 की जान, दादा दादी और पोते की मौत

अनूपपुर,डेस्क रिपोर्ट। छत्तीसगढ़ से भटक कर आये जंगली हाथियों ने मध्य प्रदेश के अनूपपुर जिले में दादा दादी और उनके 06 साल के पोते को मौत के घाट उतार दिया। अनूपपुर जिले के बेलगाँव की इस घटना में दादा दादी अपने पोते के साथ खेत में बनी झोपड़ी में सो रहे थे। देर रात करीबन डेढ़ बजे गुस्साए हाथी झोपड़ी में पहुंचे औऱ उन्होंने तीनो पर हमला बोल दिया और उन्हें पटक पटक कर मार दिया। गुरुवार सुबह जब ग्रामीणों ने तीनों का शव देखा तब घटना का पता चला। जिसके बाद ग्रामीणों ने बिजुरी वन परिक्षेत्र के वन विभाग को सूचना दी।

कोरोना में रेप के आरोपियों को पेरोल पर छोड़ने के मामले में, राज्य सरकार ने हाई कोर्ट में पेश किया जवाब

मध्य प्रदेश में जंगली हाथियों के इस तरह ग्रामीणों को मारने की संभवत: पहली घटना है। मृतकों में 55 साल के गया प्रसाद उनकी 52 साल की पत्नी मुन्नी बाई और 6 साल का पोता राजकुमार शामिल है। पोते ने रात अपने दादा दादी के साथ सोने की जिद की थी। कहा जा रहा है कि जंगली हाथियों का यह झुंड छत्तीसगढ़ से आया। बेलगाँव छत्तीसगढ़ सीमा से लगा गाँव है। वन विभाग के अनुसार हाथियों के इस दल में 7 हाथी है। और इसकी सूचना पहले ही दे दी गई थी,लेकिन ग्रामीणों की माने तो वह विभाग ने सूचना नही दी। फिलहाल घटना के बाद क्षेत्रीय विधायक सुनील सराफ भी मौके पर पहुंचे और पीड़ित परिवार को उन्होंने हरसंभव मदद की बात कही।