अशोकनगर, हितेंद्र बुधौलिया। बुधवार यानि 30 जून से मप्र (MP) भर की सरकारी अस्पतालों में नर्सिंग स्टाफ की हड़ताल है। जिसके समर्थन में अशोकनगर (Ashoknagar) जिले का नर्सिंग स्टाफ भी अपनी मांगों के निराकरण ना होने के चलते हड़ताल पर रहेगा। वहीं आज मंगलवार को नर्सेस एसोसिएशन (Nurses Association) मध्य प्रदेश के बैनर तले अशोकनगर जिले की स्टाफ नर्सो ने दोपहर को कलेक्ट्रेट पहुंचकर कलेक्टर अभय वर्मा के नाम एक ज्ञापन उनके कार्यलय में दिया।

यह भी पढ़ें… New Education Policy: MP के उच्च शिक्षा विभाग की बड़ी तैयारी, छात्रों को मिलेगा लाभ

जिले की नर्सों ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय पहुंचकर सीएमएचओ एवं जिला अस्पताल पहुंचकर सिविल सर्जन को ज्ञापन सौंपकर मांग की है कि मध्य प्रदेश में कार्यरत स्टाफ नर्सेस की लंबित मांगों का निराकरण किया जाए। स्टाफ नर्सों ने ज्ञापन के माध्यम से बताया है कि उच्च स्तरीय वेतनमान अन्य राज्यों की तरह मध्य प्रदेश में कार्यरत समस्त नर्सों को दिया जाए पुरानी पेंशन योजना लागू की जाए, कोरोनाकाल में शहीद हुई स्टाफ नर्सेज के परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति दिए जाने के साथ 15 अगस्त को राष्ट्रीय कोरोना योद्धा अवार्ड से सम्मानित किया जाए। कोरोना काल में शासन स्तर पर जितनी भी घोषणा की गई उन पर अमल नहीं किया गया। कोविड-19 में नर्सेज को सम्मानित करते हुए अग्रिम दो वेतन वृद्धि का लाभ उनके वेतन में लगाया जाए। इसके साथ ही मध्य प्रदेश में कार्यरत नर्सेज को एक ही विभाग में समान कार्य के लिए समान वेतनमान दिया जावे। वर्षो से लंबित पड़ी पदोन्नति को शुरू करते हुए नर्सेज की पदोन्नति की जाये और नर्सो को डेजिग्नेशन प्रमोशन दिया जावे मेल नर्स की भर्ती की जावे इसके साथ ही अन्य प्रमुख मांगे ज्ञापन के माध्यम से रखी है।