अशोकनगर : एसडीएम की पहल पर बुजुर्ग महिला को मिला आशियाना

अशोकनगर जिले के मुंगावली कृषि मंडी में लावारिस रूप से रह रही महिला को एसडीएम और महिला बाल विकास अधिकारी ने वृद्धाश्रम में भेजा है।

अशोकनगर, स्वदेश शर्मा। शासन द्वारा भले ही बुजुर्गों के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही है, लेकिन आज भी समाज में कई निर्दयी लोग है जो अपने बुजुर्गों को बोझ समझकर घर से निकाल देते हैं। ऐसी ही एक महिला लगभग डेढ़ महीने से पुरानी कृषि मंडी में लावारिस रूप से रह रही हैं लेकिन इसकी सुध किसी ने नहीं ली। जब इसकी जानकारी एसडीएम राहुल गुप्ता को मिली तो उन्होंने मामले को गंभीरता से लेते हुए तुंरत महिला बाल विकास की परियोजना अधिकारी को मौके पर भेजकर महिला को वृद्धाश्रम भेजने के निर्देश दिये।

यह भी पढ़ें:-ओंकारेश्वर : मंदिर बंद लेकिन ऑनलाइन बुकिंग चालू, बेंगलुरू से दर्शन करने पहुंचे श्रद्धालु

जानकारी के अनुसार बुजुर्ग महिला लगभग डेढ़ महीने पहले रामबाग के खेतों में पड़ी थी। जिसको कोई रात के अंधेरे में छोड़ गया और यहां के लोगों ने जब सुबह इसको देखा तो उन्होंने महिला को पुरानी मंडी में भेज दिया। तब से यह महिला यहीं लावारिस पड़ी है। लेकिन इसको लेने आज तक कोई नहीं आया। तब जाकर इसकी सूचना एसडीएम को दी गई। एसडीएम ने महिला को वृद्धाश्रम भेजने के निर्देश दिए।

अशोकनगर : एसडीएम की पहल पर बुजुर्ग महिला को मिला आशियाना

मेडीकल के बाद वृद्धाश्रम में दाखिला

शुक्रवार की शाम को इस बुजुर्ग महिला की जानकारी एसडीएम को दी गई और उसके तुरन्त बाद महिला बाल विकास अधिकारी ने मौके पर जाकर इस महिला से चर्चा की उसके बाद रविवार की सुवह महिला को मंडी से लेजाकर सिविल अस्पताल में मेडिकल कराया गया। जिसके बाद जिला मुख्यालय पर स्थित वृद्धाश्रम में बुजुर्ग महिला को दाखिला दिलाया गया। वहीं पूरे मामले में जिस तरह एसडीएम व महिला बाल विकास के अधिकारियों ने तत्परता दिखाई है, इसे क्षेत्रे में खूब सराहा जा रहा है।