Session Court का अहम फैसला, नकली गुटखा बनाने वाले को सुनाई आजीवन कारावास की सजा

कोर्ट ने विभिन्न धाराओं के तहत दोनों आरोपियों पर ₹215000 का अर्थदंड (Penalty) और आजीवन कारावास (life imprisonment) की सजा सुनाई है। वही इसमे से एक आरोपी चंदन सिंह की प्रकरण के दौरान मृत्यु हो गई थी।

पदोन्नति

सेवढा, राहुल ठाकुर। द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश (Session judge) रामकुमार डहेरिया ने न्यायालय में गुरुवार को एक अहम फैसला सुनाया है। जिसमें नकली गुटखा बनाने वाले एक आरोपी को आजीवन कारावास (life imprisonment) की सजा सुनाई है। बता दें कि यह मामला पिछले 10 वर्षों से न्यायालय (Court) में चल रहा था। नकली गुटखा बनाने वालों पर भगुआपुरा पुलिस ने 3 अगस्त 2011 को छापामार कार्यवाही की थी। जिसमें अतुल कुमार दीक्षित पिता लल्लू राम दीक्षित निवासी राजेंद्र नगर उरई जालौन उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) चंदन सिंह पिता हरप्रसाद धाकड़ निवासी ग्राम भगुआपुरा जिला दतिया को नकली गुटखा बनाते हुए पकड़ा था।

Session Court का अहम फैसला, नकली गुटखा बनाने वाले को सुनाई आजीवन कारावास की सजा

ये भी पढे़- महिला से मारपीट कर रहा पति, Police नहीं कर रही कोई कार्रवाई, मदद के लिये स्थानीय महिलाओं ने उठाये लाठी-डंडे

जिसमें शासन की ओर से पैरवी पी.एल. सोनी अपर लोक अभियोजक एवं रवि शंकर शर्मा अपर लोक अभियोजक ने की। अपर लोक अभियोजक (Additional Public Prosecutor) पीएल सोनी ने बताया कि अतुल कुमार दीक्षित पर विभिन्न धाराओं के तहत ₹215000 का अर्थदंड(Penalty) और आजीवन कारावास (life imprisonment) की सजा सुनाई गई है। वही चंदन सिंह की प्रकरण के दौरान मृत्यु हो गई थी।