गांव की सीमा सील न करने पर पंचायत सचिव और सरपंच को पद से हटाने के निर्देश

बड़वानी, बाबूलाल सारंग। कोरोना संक्रमण के चलते जहा केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार जनता को सुरक्षित रखने के प्रयास कर रही है वहीं कुछ छोटे कर्मचारी अब भी लापरवाही बरत रहे हैं। ऐसा ही मामला देखने मे आया है बड़वानी जिले में। यहां कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा ने आभाली गाँव में 10 पॉज़िटिव केस आए जाने के उपरांत भी गांव को सील नहीं करने पर ग्राम पंचायत सचिव एवं सरपंच को पद से पृथक करने की कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।

दमोह उपचुनाव के परिणामों को लेकर हाईकोर्ट का आदेश, नहीं होंगे जश्न और रैली

कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा ने निरीक्षण के दौरान ग्राम सचिव के मौके पर नहीं मिलने व कैलाश यादव के घर पर 29 अप्रैल की शादी में 20 लोगों की अनुमति के बाद भी अधिक संख्या के मद्देनजर शादी की तैयरियाँ, टेंट गद्दे, कुर्सियाँ लगी पाए जाने पर अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए पुनः कड़े शब्दों में चेतावनी दी है। उन्होने कहा कि विवाह आयोजन के लिए संबंधित अनुभाग अधिकारी राजस्व से अनुमति लेना अनिवार्य है। साथ ही अनुमति की शर्तों के अनुसार आयोजन में किसी भी तरह 20 से अधिक लोग सम्मिलित नहीं होंगे। ऐसा पाए जाने पर आयोजक के विरुद्ध एफआईआर एवं समारोह में भाग लेने वालों के विरुद्ध आपदा प्रबंधन की विभिन्न धाराओं के तहत कठोर कार्यवाही की जाएगी। इसी के साथ आभाली गाँव  में 10 पॉज़िटिव केस पाए गए लेकिन ग्राम पंचायत सचिव एवं सरपंच ने गांव की सीमा सील नहीं की। इसे लेकर कलेक्टर ने दोनों को पद से हटाने की कार्यवाही के निर्देश दिए हैं।

कलेक्टर ने जिले के समस्त ग्राम पंचायत सचिवों एवं रोजगार सहायकों को निर्देशित किया है कि वे अपने प्रभार के क्षेत्र में होने वाली शादी समारोह की अनुमति चेक करने के उपरांत यह भी सुनिश्चित करेंगे कि शादी समारोह में निर्धारित संख्या में ही लोग उपस्थित हो एवं मास्क के तथा सोशल डिस्टेंस के नियम का पालन अनिवार्य रूप से करें।