बैतूल में ऑटो एंबुलेंस सेवा की शुरुआत, मरीज आसानी से पहुंच सकेंगे अस्पताल

बैतूल जिले में ऑटो एंबुलेंस (Auto Ambulance) की शुरुआत की गई है। जिससे कोरोना मरीजों को अस्पताल आसानी से पहुंचने में सुविधा मिलेगी।

बैतूल, वाजिद खान। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के बैतूल (Betul) में कोरोना मरीजों (Covid Patients) को अस्पताल ले जाने के लिए ऑटो एंबुलेंस (Auto Ambulance) सेवा शुरुआत की गई है। इससे एंबुलेंस की किल्लत झेल रहे अस्पतालों को भी सुविधा मिलेगी और मरीज समय पर अस्पताल पहुंच सकेंगे। इस सेवा की शुरुआत एसपी सिमाला प्रसाद ने करवाई है।

यह भी पढ़ें:-इंदौर में डॉक्टर हड़ताल वापस, कलेक्टर ने जताया खेद, डॉ. पूर्णिमा का इस्तीफा नामंजूर

सुविधा भी आसानी से उपलब्ध नहीं हो पा रही है। जिसके कारण मरीजों को अस्पताल पहुंचने में देर हो जाती है और सही समय पर इलाज नहीं मिलने के चलते उनकी हालत गंभीर हो जाती है। ऐसी स्थिति में कई मरीज बाइक से अस्पताल पहुंचते हैं और उनके इस तरह जाने से संक्रमण फैलने का खतरा बना रहता है। इसी को देखते हुए बैतूल में चल रही ऑटो एंबुलेंस ने पांच ऑटो को कोविड ऑटो एम्बुलेंस बनाया है। शुक्रवार को बैतूल एसपी कार्यालय में कोविड ऑटो एंबुलेंस का शुभारंभ एसपी सिमाला प्रसाद ने किया।

बैतूल में ऑटो एंबुलेंस सेवा की शुरुआत, मरीज आसानी से पहुंच सकेंगे अस्पताल
ऑटो एम्बुलेंस

पूरी तरह सुरक्षित है ऑटो एम्बुलेंस
इस मौके पर कोविड ऑटो एंबुलेंस के चालकों को सैनिटाइजर और आकसोमिटर भी दिए गए। जिससे मरीजों की ऑक्सीजन चेक कर सकते हैं। कोविड ऑटो एंबुलेंस को पूर्ण रूप से सुरक्षित बनाया गया है। ऑटो के पिछले हिस्से को पूरा पॉलीथिन से कवर्ड किया गया है, जिससे संक्रमण का खतरा ऑटो चालक ना हो इसके साथ ही ऑटो चालक भी पीपीई किट पहनकर ऑटो चलाएंगे। कोविड ऑटो एम्बुलेंस के शुरू होने से अब को मरीजों को घर से अस्पताल जाने में सुविधा हो सकेगी। मरीजों को कोविड ऑटो एंबुलेंस का भुगतान भी करना पड़ेगा जो 3 किलोमीटर एरिया में 300 रुपये लगेगा और 10 किलोमीटर के दायरे में मरीजो को लाने ले जाने का शुल्क 500 रुपये रखा गया है। इस सेवा के शुरू होने प्रायवेट एम्बुलेंस की मनमानी पर भी रोक लगेगी।