मंत्रीजी को महिला की खरी-खरी- “क्या हुआ तेरा वादा”

 

पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे को उनके ही विधानसभा क्षेत्र में भरे मंच से एक महिला ने जमकर खरी-खरी सुनाई। मामला मुलताई के जौलखेड़ा गांव का है जहां मंत्रीजी मुख्यमंत्री ग्रामीण हाट बाजार का उद्घाटन करने पहुंचे थे। उद्घाटन के बाद वे जैसे ही मंच पर पहुंचे और अपनी सरकार के काम का बखान करना शुरू किया कि एक महिला मंच पर आ गई और सीधे सुखदेव पांसे से जवाबतलब करने लगी।

आशा दौड़के नाम की इस ग्रामीण महिला ने पूरी ठसक से पीएचई मंत्री को उनके घोषणा पत्र में किये गये वायदों की न सिर्फ याद दिलाई बल्कि सीधे-सीधे पूछ लिया कि आखिर ये वादे पूरे क्यों नहीं किये जा रहे हैं। ये महिला अपने गांव में शराब की दुकान बंद कराने और उसका ठेका निरस्त करने की मांग कर रही थी। उन्होने बताया कि शराब पीने के कारण उनके गांव में कई लोगों की असमय मृत्यु हो चुकी है साथ ही कई बच्चे भी इस बुरी आदत का शिकार हो गए हैं।

खास बात ये कि जब आशा दौड़के मंच से माइक पर मंत्रीजी से सवाल कर रही थी तो पीछे से एक व्यक्ति ने उन्हें रोकने की कोशिश भी की, लेकिन सुखदेव पांसे ने उसे मना करते हुए महिला को बात पूरी करने दी। जब वो अपनी बात कह रही थी तो सामने बैठे लोगों ने भी ताली बजाकर उनका समर्थन किया। महिला ने राहुल गांधी का नाम लेते हुए कर्ज़माफी सहित घोषणापत्र में लिखी कई बातों का ज़िक्र किया और इन्हें लेकर सीधे मंत्री महोदय से सवाल कर डाले। बाद में पीएचई मंत्री ने इन सवालों का जवाब देते हुए कहा कि घोषणा पत्र में किये गए सभी वादों पर अमल किया जा रहा है और जल्द ही आशा दौड़के द्वारा ध्यान में लाये गये मुद्दों पर संज्ञान लेते हुए उनका निराकरण किया जाएगा।