14 से 28 जनवरी तक प्रदेश में आयोजित होगा आनंद उत्सव, होंगे धार्मिक आयोजन

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। राज्य सरकार अगले साल यानी वर्ष 2022 में नर्मदा जयंती और महाशिवरात्रि पर्व धूमधाम से मनाने की तैयारी में जुट गई है। इस दौरान नर्मदा के प्रसिद्ध तटों और प्रदेश के सभी बड़े शिवालयों में भव्य आयोजन होंगे। इसलिए महाशिवरात्रि से पहले महाकाल ज्योतिर्लिंग परिसर उज्जैन में चल रहे सात सौ करोड़ रुपये के विकास कार्यों को पूरा किया जाएगा।

यह भी पढ़े.. जब आरक्षित कोच में जाने के लिए नहीं खुला दरवाजा, आयोग ने रेल्वे पर लगाया हर्जाना

गुरुवार को मंत्रिपरिषद की बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में 14 से 28 जनवरी 2022 तक आनंद उत्सव आयोजित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने बताया कि वाराणसी में विभिन्न् राज्यों के नवाचारों पर हुए प्रस्तुतीकरण में मध्य प्रदेश की ओर से आनंद विभाग पर केंद्रित प्रस्तुति दी गई। इसे कई राज्यों ने सराहा है। वे आनंद विभाग की गतिविधियों का अनुसरण करने के इच्छुक हैं।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में आनंद विभाग की गतिविधियों को बढ़ाया जाएगा। इसमें अल्पविराम, आनंद घर, आनंद कैलेंडर और आनंद शिविर आदि गतिविधियां संचालित होंगी। बता दें कि प्रदेश में वर्तमान में 170 स्थानों पर आनंद घर संचालित हैं। मुख्यमंत्री ने मंत्रियों को निर्देश दिए कि वे अपने विभागों की गतिविधियों के लिए केंद्र से अधिक से अधिक सहयोग लेने के लिए विशेष प्रयास करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे प्रदेश में विकास और जनकल्याणकारी गतिविधियों का और अधिक विस्तार हो सकेगा।