जीएसटी बढ़ाए जाने से नाराज व्यापारियों ने बजाई थाली और घंटिया

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। नए वर्ष से कपड़े पर 5 प्रतिशत जीएसटी बढ़ाकर 12 प्रतिशत किया जाने के फैसले का विरोध शुरू हो गया है, इस विरोध के पहले चरण में मंगलवार रात को ठीक सात बजे से लेकर 7:20 मिनट तक व्यापारी अपनी दुकानों की लाइटे बंद कर सडक़ पर आ गए और थाली, शंख, घंटी बजाकर विरोध दर्ज करवाया। कपड़े पर GST की दर 5% से बढ़ाकर 12% किए जाने के विरोध में भोपाल, संत हिरदाराम नगर सहित प्रदेशभर के कपड़ा व्यापारियों ने तय किया है कि मंगलवार से दुकानों से बाहर निकलकर थाली और लोटा बजाएंगे। मंगलवार, बुधवार और गुरुवार को रोज शाम को 20 मिनट तक यह प्रदर्शन होगा। ताकि, सरकार GST बढ़ाने का फैसला वापस ले लें। इसके बाद व्यापारी धरना भी देंगे।

यह भी पढ़े.. इन बातों को लेकर सबसे ज्यादा चिंतित रहती हैं ये 12 राशियां, जाने क्या है वो राज

बता दें कि 1 जनवरी से नई दरें लागू हो जाएगी। इसके चलते पिछले एक महीने से व्यापारी विरोध जता रहे हैं। न्यू मार्केट, लखेरापुरा, चौक, 10 नंबर, विट्‌ठन मार्केट आदि बाजारों में पोस्टर-बैनर लगे हुए हैं। भोपाल व्यापारी महासंघ की माने तो जीएसटी की नई दरों को लेकर ग्राहकों को जागरूक कर रहे हैं। ताकि, वे भी सरकार से दरें न बढ़ाने की मांग करें। कपड़ा खरीदी पर उन्हें ही जीएसटी देना पड़ेगा।

विरोध प्रदर्शन की मंगलवार से शुरुआत हो गई, व्यापारियों ने तय रणनीति के तहत लाइट बंद कर दुकान के बाहर खड़े होकर थाली बजाकर नाराजगी जताई। कपड़ा संघ के अध्यक्ष कन्हैया इसरानी ने बताया कि गत दिवस मध्यप्रदेश की जीएसटी संघर्ष समिति की गूगल मीट सपन्न हुई जिसमे सभी शामिल प्रतिनिधियों द्वारा आगे की विरोध की रणनीति पर चर्चा हुईं कई सुझाव चर्चा में सामने आये है। सबकी सहमति से यह तय हुआ कि विरोध के प्रथम चरण की शुरुआत मंगलवार से गुरुवार तक प्रतिदिन रात्रि 7 बजे से 7.20 तक बीस मिनिट अपनी दुकान की लाईट बंद कर दुकान के बाहर खड़े होकर थाली,लोटा आदि बजाया जाएगा। यह विरोध संत नगर नहीं देश के अलग अलग कौनों में मंगलवार से शुरू किया गया। मध्यप्रदेश के कपड़ा व्यापारी में शामिल हो होकर अपना विरोध प्रकट कर सकें इस तीन दिवसीय ब्लैक आउट के पश्चात विरोध का अगला चरण शुरू होगा।
अन्य मंडियों में भी विरोध्
संत नगर सहित भोपाल,वीदिशा,इंदौर,सूरत,सुजालपुर,कटनी,सहित देश के अन्य स्थानों,राज्यों में इस विरोध को दर्ज करवाया गया। आने वाले दिनों में व्यापारी अगले चरण की रणनीति तैयार करेगे।