भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। परिवहन एवं राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत (Minister Govind Singh Rajput) ने मंगलवार को भोपाल (Bhopal) में 65 बिस्तरीय डिजिक्योर ई क्लीनिक का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा कि चिकित्सालय में ऑनलाइन मरीजों के इलाज की सुविधा से प्रदेश एवं प्रदेश के बाहर के मरीजों को घर बैठे इलाज किया जा सकेगा। बतादें राजपूत ने अस्पताल से ऑनलाइन इलाज करा रहे पन्ना जिले के शाहगढ़ निवासी मरीज आकाश नरवरिया से बात कर उसके स्वास्थ एवं उपचार की जानकारी भी ली।

यह भी पढ़ें…नेमावर हत्याकांड के आरोपियों को फांसी की सजा- मंत्री कमल पटेल

गौरतलब है कि मंत्री राजपूत ने मरीज से पूछा कि गोविंद सिंह राजपूत को जानते हैं। उन्होंने कहा हां फोटो में देखा है परंतु कभी बात नहीं हुई। जैसे ही उन्होंने वर्चुअली आकाश को बताया कि मैं गोविन्द सिंह राजपूत हूँ देखा तो है आज बात भी कर लो। उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। मंत्री से रूबरू होकर वह बहुत खुश हुआ।

मंत्री राजपूत ने कहा कि रूद्राक्ष अस्पताल कोलार में अवश्य खुला है। परंतु मरीज अपना इलाज पूरे देश-प्रदेश से घर बैठे करा सकते हैं। चिकित्सा के क्षेत्र में इमरजेंसी की इस स्थिति में ये एक नई क्रांति है। इससे न तो मरीज को परिवहन की आवश्यकता है और न एम्बूलेंस की। जहाँ तक सर्जरी की आवश्यकता न हो तो मेडिसिन के स्तर पर चिकित्सीय परामर्श मिलने से फर्स्ट एड का काम करेगा। परिवहन मंत्री ने राजपूत को अस्पताल प्रबंधन ने बताया कि डिजिक्योर सीएम सॉफ्टवेयर से 1500 से अधिक डाक्टर्स की टीम जुड़ी हुई है। इससे मरीज एवं उनके परिवारजनों को इलाज के लिए दूसरे शहर में जाने की आवश्यकता नहीं होगी। इस व्यवस्था से मरीज तथा उनके परिजनों को आने-जाने और रूकने आदि में होने वाले अनावश्यक व्यय की बचत होगी। समय पर मरीज को ट्रीटमेंट उपलब्ध हो सकेगा। इसमें आवश्यक दवाईयाँ एवं पैथोलॉजी आदि की व्यवस्था भी मरीज के निवास स्थान के समीप ही कर दी जाती है।

यह भी पढ़ें…राजगढ़ में मिले डेल्टा वेरिएंट के 4 मरीज, बढ़ती भीड़ से मंडराने लगा कोरोना खतरा