मुख्यमंत्री मोहन यादव ने केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से की मुलाकात, शिक्षा, कौशल विकास और मध्य प्रदेश के विकास पर की विस्तृत चर्चा

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से उनके निवास स्थान पर मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने प्रदेश में चल रहे नवाचार को लेकर उनको जानकारी दी। साथ ही नवाचारों के शुभारंभ के लिए उन्हें मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित भी किया।

Shashank Baranwal
Published on -
ohan Yadav

CM Mohan Yadav: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने गुरूवार को केंद्रीय शिक्षा व कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से उनके निवास स्थान पर मुलाकात की। जहां उन्होंने मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से शिक्षा और कौशल विकास से संबंधित कई विषयों पर विस्तृत चर्चा की। इस दौरान प्रदेश में किए जाने वाले नवाचारों में सहयोग को लेकर मंत्री प्रधान से सहयोग के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया। साथ ही प्रदेश में नवाचारों के शुभारंभ के लिए मुख्य अतिथि के रूप में आने के लिए निमंत्रण दिया। जिसे शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से स्वीकार कर लिया।

IIT, इंदौर का उज्जैन में सैटेलाइट कैंपस खोलने पर बनी सहमति

मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने केंद्रीय मंत्री के मिलने के बाद जानकारी दी कि साल 2023 में शिक्षा मंत्रालय को इंडियन इंस्टीट्यूट टेक्नोलॉजी, इंदौर के सैटेलाइट कैंपस को उज्जैन में खोलने के लिए स्वीकृति भेजी गई थी। जिसको लेकर केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से सैंद्धांतिक सहमति मिल गई है। उन्होंने कहा कि IIT, इंदौर का उज्जैन में सैटेलाइट कैंपस स्थापित होना एक महत्त्वपूर्ण परियोजना है। जिससे पूरे देश समेत प्रदेश के छात्रों, शिक्षकों और औद्योगिक कर्मियों को फायदा होगा।

IIT, दिल्ली द्वारा प्रदेश में चलाए जा रहे 4 फ्यूचर कोर्स

मुख्यमंत्री डॉ यादव ने केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से मुलाकात कर जानकारी दी कि इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, दिल्ली के द्वारा कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की संकल्प योजना के अंतर्गत एमपी में 4 फ्यूचर स्किल कोर्स चलाए जा रहे हैं। जिसमें महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज, भोपाल में ऑगमेंटेड रियलिटी/वर्चुअल रियलिटी (AR/VR), जबलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज में इंटरनेट आफ थिंग्स (IoT) और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI)  के साथ ही उज्जैन इंजीनियरिंग कॉलेज में ब्लाकचैन कोर्स स्थापित किए गए हैं। उन्होंने जानकारी दी कि सभी कोर्सेज में प्रदेश के एक हजार युवाओं को प्रशिक्षण देने का काम किया जा रहा है। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने जानकारी दी कि प्रदेश में स्थापित संत शिरोमणि रविदास ग्लोबल स्किल पार्क में IIT, दिल्ली द्वारा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) और ऑगमेंटेड रियलिटी/वर्चुअल रियलिटी (AR/VR) के क्षेत्र में सेंटर आफ एक्सीलेंस स्थापित किया जा रहा हैं। साथ ही संत शिरोमणि रविदास ग्लोबल स्किल पार्क में संचालित किए जाने वाले कोर्सेस में तकनीकी सलाहकार के रूप में ITI, सिंगापुर की जगह अब IIT, दिल्ली को तकनीकी सलाहकार बनाए जाने का भी निर्णय लिया गया है।

असीरगढ़ किले में स्थापित की जाएगी सुरेंद्र साईं की प्रतिमा

इस दौरान केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने मुख्यमंत्री डॉ. यादव को उड़ीसा के महान स्वतंत्रता सेनानी वीर सुरेंद्र साईं के बारे में जानकारी दी। जिन्होंने मध्य प्रदेश के बुरहानपुर जिले के असीरगढ़ किले के कारावास में करीब 35 साल से ज्यादा समय गुजारा था। जिसको लेकर मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने केंद्रीय मंत्री को आश्वासन दिया कि राज्य सरकार द्वारा जल्द ही असीरगढ़ किले में स्वतंत्रता सेनानी वीर सुरेंद्र साईं की प्रतिमा स्थापित की जाएगी। साथ ही उनके सम्मान में स्मारक भी बनाया जाएगा। जिससे मध्य प्रदेश और उड़ीसा राज्यों के बीच सांस्कृतिक संबंध मधुर और प्रगाढ़ होंगे।

आपको बता दें बैठक के पहले मुख्यमंत्री डॉक्टर यादव ने केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को पुष्पगुच्छ और अंगवस्त्र भेंट कर अभिवादन किया। साथ ही प्रधान ने भी मुख्यमंत्री डॉ यादव को अंगवस्त्र भेंट किया।


About Author
Shashank Baranwal

Shashank Baranwal

पत्रकारिता उन चुनिंदा पेशों में से है जो समाज को सार्थक रूप देने में सक्षम है। पत्रकार जितना ज्यादा अपने काम के प्रति ईमानदार होगा पत्रकारिता उतनी ही ज्यादा प्रखर और प्रभावकारी होगी। पत्रकारिता एक ऐसा क्षेत्र है जिसके जरिये हम मज़लूमों, शोषितों या वो लोग जो हाशिये पर है उनकी आवाज आसानी से उठा सकते हैं। पत्रकार समाज मे उतनी ही अहम भूमिका निभाता है जितना एक साहित्यकार, समाज विचारक। ये तीनों ही पुराने पूर्वाग्रह को तोड़ते हैं और अवचेतन समाज में चेतना जागृत करने का काम करते हैं। मशहूर शायर अकबर इलाहाबादी ने अपने इस शेर में बहुत सही तरीके से पत्रकारिता की भूमिका की बात कही है– खींचो न कमानों को न तलवार निकालो जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालो मैं भी एक कलम का सिपाही हूँ और पत्रकारिता से जुड़ा हुआ हूँ। मुझे साहित्य में भी रुचि है । मैं एक समतामूलक समाज बनाने के लिये तत्पर हूँ।

Other Latest News