सीएम शिवराज ने हरी झंडी दिखाकर किया MEMU रेल का शुभारंभ

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से रेलवे द्वारा प्रदेश में चलाई जाने वाली 3 नवीन मेमू ट्रेनों के संचालन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर उन्होने कहा कि प्रतिदिन यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए परेशानी होती थी, अब मेमू ट्रेनों के चलने से लोगों को कोई समस्या नहीं होगी। इसमें सभी तरह की सुविधाएँ हैं। रोज आने जाने आम जनता और व्यापारियों को इससे बहुत अधिक राहत मिलेगी।

केन्द्र की पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन योजना, मुख्यमंत्री कोविड-19 बाल सेवा योजना के हितग्राही भी होंगे पात्र

प्रदेश में आम लोगो की सुविधा के लिए तीन नई मेमू (मेन लाईन इलेक्ट्रिक मल्टीपल यूनिट) ट्रेन आज प्रारंभ की गई। सीएम शिवराज ने कहा कि रोज सफर करने वाले नागरिकों और छोटे व्यापारियों को MEMU ट्रेन से बहुत लाभ मिलेगा। वे एक स्टेशन से दूसरे स्टेशन तक आने जाने की इस सस्ती सुविधा का लाभ उठा सकेंगे। इसके साथ ही मासिक सीजन टिकट एमएसटी की सुविधा भी प्रारंभ की जाएगी। उन्होने कहा कि ये ट्रेन सतना और कटनी के विकास के लिए पूरी तरह कटिबद्ध हैं। इन आधुनिक ट्रेनों में टॉयलेट, डिजिटल डिस्प्ले बोर्ड और सीसीटीवी कैमरे भी लगे हैं। इनकी गति 100 किलोमीटर प्रति घंटे होगी। प्रत्येक ट्रेन में 8 डिब्बे होंगे, जिनमें 650 यात्री बैठकर यात्रा कर सकेंगे। ये सभी ट्रेन अनारक्षित होंगी तथा बीच के सभी स्टेशनों पर रूकेंगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश में रेल, सड़क एवं फोन कनेक्टिविटी निरंतर बढ़ रही है। भारत में 67 हजार किलोमीटर से अधिक रेल नेटवर्क तथा 13 हजार से अधिक यात्री ट्रेन एवं 8 हजार मालगाड़ियाँ हैं। मध्यप्रदेश में लगभग 700 से अधिक रेलवे स्टेशन और 4 हजार 800 किलोमीटर का रेल नेटवर्क है। प्रदेश में रेल सुविधाओं का निरंतर विकास हो रहा है। ललितपुर-सिंगरौली रेल लाईन भी क्षेत्र के विकास में अत्यंत महत्वपूर्ण साबित होगी।

शुक्रवार को निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पश्चिम मध्य रेलवे जबलपुर मंडल के अंतर्गत तीन नई मेमू ट्रेन्स सतना-इटारसी, सतना-मानिकपुर तथा कटनी-बीना को हरी झण्डी देकर रवाना किया गया। मुख्य कार्यक्रम सतना में आयोजित किया गया। इस अवसर पर सांसद वी.डी. शर्मा, सांसद गणेश सिंह, स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, विधायक शरदेंदु तिवारी, लोकेन्द्र पाराशर, अपर मुख्य सचिव एस.एन. मिश्रा, डी.आर.एम. संजय विश्वास आदि उपस्थित थे।