भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। शाहपुरा थाना क्षेत्र स्थित एफसीआई (Food corporation of India) के एक अधिकारी द्वारा नाबालिग नौकरानी से दुष्कर्म का मामला सामने आया है। आरोप है कि अधिकारी 17 साल की नाबालिग का करीब दो महीने से यौन शोषण कर रहा था। इस मामले में पुलिस में शिकायत की गई है जिसके बाद आरोपी को हिरासत में लिया गया है।

रोको-टोको अभियान में चला पुलिस का डंडा, लोगों में नाराजगी

इस मामले में नाबालिग पीड़िता की तबीयत बिगड़ऩे के बाद अधिकारी उसे अस्पताल भी लेकर पहुंचा। पीडि़ता के मुताबिक शोषण का विरोध करने पर आरोपी ने उसे जान से मारने की धमकी दी थी। डरी सहमी पीड़िता ने हिम्मत जुटाकर मामले की जानकारी अपने परिजनों को दी, जिसके बाद मामला थाने तक पहुंचा। शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया है और आज उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा।

एसआई मोना जादौन ने बताया कि आरोपी पीयूष श्रीवास्तव भरत नगर शाहपुरा में रहता है। वह फूड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एफसीआई) में अधिकारी है शादीशुदा और एक बच्चे के पिता है। पीयूष श्रीवास्तव के घर पर करीब चार साल से नाबालिग काम कर रही है। वह रोज सुबह उनके घर आती थी और शाम छह बजे तक रहती थी। इस दौरान वह घर में खाना बनाने से लेकर सारे काम करती थी। सारे काम करने के कारण उसे घर के ऊपर वाला कमरा आराम करने के लिए दिया गया था। काम करने के बाद वो उसी कमरे में आराम करने चली जाती थी। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि 16 फरवरी 2021 को वह काम करने के बाद ऊपर वाले कमरे में रेस्ट करने पहुंची थी, इसी बीच पीयूष श्रीवास्तव उसके कमरे में पहुंच गया और वहां उसने डरा धमकाकर जबरन शारीरिक संबंध बनाए। इसके बाद वह अक्सर पीड़िता का शोषण करने लगा। पिछले दिनों पीड़िता की तबीयत बिगड़ी तो आरोपी उसे अपने साथ निजी अस्पताल भी ले गया और वहां उससे किसी कोरे कागज पर साइन भी कराए थे। पुलिस का कहना है कि पीड़िता की शिकायत पर प्रकरण दर्ज कर लिया है और पुलिस मामले की जांच कर रही है।