बोले CM शिवराज- प्रदेश में किसी भी कीमत पर दंगे बर्दाश्त नहीं- Not at all

सीएम शिवराज सिंह

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। राजधानी भोपाल में मंत्रालय में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लॉ एण्ड ऑर्डर की बड़ी बैठक ली,  बैठक में मुख्य सचिव, डीजीपी, एडीजी इंटेलिजेंस, ओएसडी योगेश चौधरी सहित पुलिस और गृह विभाग के अधिकारी उपस्थित रहें। सीएम शिवराज ने अधिकारियों को पूरे प्रदेश में चाक चौबंध व्यवस्था रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा किसी भी हाल में प्रदेश में किसी भी कीमत पर शांति भंग नहीं होनी चाहिए।

यह भी पढ़ें…. भोपाल में मानसिक विक्षिप्त युवती के लिए नहीं कोई शेल्टर- पुलिस के इस जबाव पर आयोग ने जारी किया नोटिस

बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों को निर्दश दिए कि बीट सिस्टम को मजबूत करें। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने इंटेलिजेंस सिस्टम को और मजबूत करने को कहा। उन्होंने कहा कि मजबूत इंटेलिजेंस की कार्य योजना मुझे शीघ्र प्रस्तुत की जाए। साधन-संसाधन, योग्य व्यक्तिजो  भी लगाने हो लगाएं, लेकिन इंटेलिजेंस सिस्टम को मजबूत करें।बैठक में मुख्यमंत्री ने, एडीजी इंटेलीजेंस से पूछा कि आप इंटेलिजेंस को मजबूत करने का प्लान मुझे कब तक दे देंगे ?आपकी ड्यूटी है, प्रदेश में शांति बनी रहे। दंगाइयों पर कार्रवाई जारी रखें। जिस दंगाई या माफिया ने शासन की जमीन पर कब्जा बनाके रखा है उसे मुक्त कराएं।

यह भी पढ़ें…और स्मार्ट होगा Indore, केंद्र सरकार से जल्द मिलेगी बड़ी सौगात, सांसद लालवानी ने की घोषणा

मुख्यमंत्री ने सोमवार को भोपाल में कांग्रेस नेत्री से कब्जा मुक्त कराने की कार्रवाई पर कहा कि सही कार्रवाई की गई है जिला प्रशासन के साथ मिलकर काम करें। 21000 एकड़ जमीन मुक्त कराई है। शासकीय जमीन से कब्जा मुक्त कराने के लिए अभियान चलाएं। दबंगों से ली गई जमीन, गरीबों को दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कड़े शब्दों में कहा कि अफसर के यहां जो पुलिसकर्मी, शासकीयकर्मी लगे हैं उन्हें कम करें, उन लोगों का जनहित में उपयोग किया जाए, जो नियमानुसार पात्रता है बस उतने ही लोग अफसरों के यहां काम करें। मैंने मंत्रियों की सलामी बंद कराई है, तो अफसरों के घरों में गुलामी भी नहीं चलेगी। आप लोगों ने हनुमान जयंती के कार्यक्रमों, जुलूस को अच्छे तरीके से हैंडल किया है, ये प्रशंसनीय है। आगे भी आने वाले त्यौहार, परशुराम जयंती और ईद निर्विघ्न संपन्न हो, इसके लिए मैदान में डटे रहें। पब्लिक कनेक्ट बनाकर रखें।

यह भी पढ़ें…. थाने में हनुमान चौखट पर बाबा, मामला सुलझाने में लगी पुलिस

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिलों में दौरे जरूर करें। जो अधिकारी फील्ड पर नहीं जा रहे हैं, उनकी सूची बनाकर मुझे दें। ग्राम समितियों का पुनर्गठन करे। शरारती तत्वों की जो लोग मदद करते हैं उन पर कार्यवाही करें, मध्यप्रदेश में दंगा बर्दाश्त नहीं करूंगा, अब मध्यप्रदेश में मुझे किसी कीमत पर दंगा नहीं चाहिए – नॉट एट ऑल, कमीशन के नेटवर्क को ध्वस्त करें, जो चल रहा है चलने दो, ये सोचकर अभी आप बैठे हैं तो आप अपने धर्म का पालन नहीं कर रहे हैं। आप पवित्र संकल्प लेकर मैदान में काम करें। CCTV धार्मिक स्थलों पर लगाने की जो बात आई है हमें उसका स्वागत करना चाहिए। CCTV लग जाने से हम अपराध पर नियंत्रण कर सकते है। आप लोग भी CCTV सिस्टम को और मजबूत करें। कंट्रोल सिस्टम मजबूत रहे। लगातार सीसीटीवी के माध्यमों से भी असामाजिक तत्वों एवं अन्य गतिविधियों पर नजर बनाए रखें। पुलिसकर्मियों को ट्रेनिंग दें। दंगा रोकने की ट्रेनिंग, भीड़ अनियंत्रित हो गई तो क्या करना चाहिए? दोनों तरफ से भीड़ आ गई तो क्या करना चाहिए? भारत सरकार या अन्य राज्यों के ऐसे कोई मॉडल है तो उनका अध्ययन करें, नई तकनीकी का प्रयोग करें। बैठना बिल्कुल नहीं है, चिन्हित अपराधियों पर कार्यवाही करते रहे।