भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भारतीय किसान यूनियन के प्रदेशाध्यक्ष अनिल यादव ने भोपाल पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए है। उन्होने कहा कि बिना आंदोलन के मुझपर झूठा मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने मुझे सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक क्राइम ब्रांच में रखा। यह प्रजातंत्र की हत्या है।

ये भी देखिये- धरने पर बैठे कांग्रेस विधायक, किसान नेताओं की रिहाई की मांग, दी ये चेतावनी

उन्होने कहा कि गुरूवार को मिसरोद में रेल रोको आंदोलन किया जाना था, लेकिन सुबह 8 बजे ही मुझे, जिलाध्यक्ष व अन्य साथियों को घर से ही गिरफ्तार कर लिया गया। ये गिरफ्तारी अकारण है क्योंकि हम लोग आंदोलन स्थल पर थे ही नहीं। उन्होने कहा कि अगर मैं आंदोलन के स्थान पर होता किसी तरह का उत्पात मचाता तो कार्रवाई हो सकती थी, लेकिन घर पर ही मुझपर मामला दर्ज कर दिया। उन्होने प्रदेश सरकार पर केंद्र सरकार को गुमराह करने का आरोप लगाया और कहा कि पुलिस का रवैया अलोकतंत्रकारी तथा तानाशाही से भरा था। उन्होने कहा कि आगे भी ऐसा ही रवैया रहा तो अबसे बिना सूचना दिए आंदोलन किये जाएंगे।