कमल पटेल का वार- विधायकों का कांग्रेस में घुट रहा था दम, इसलिए हुआ पलायन

कमल पटेल ने कहा कि कमलनाथ को इसकी भनक पहले ही लग चुकी थी इसलिए वह सदन में भी 35 करोड़ के ऑफर मिलने की बात कहकर दावा करने लगे थे कि उनके विधायक बिकाऊ नहीं हैं

kamal patel

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कांग्रेस (Congress) छोड़कर BJP में शामिल हो रहे विधायकों को बिकाऊ कहने पर कृषि मंत्री कमल पटेल कमलनाथ (Kamal Nath) पर बरस पड़े। कमल पटेल (Kamal Patel) ने कहा कि कमलनाथ की प्राइवेट लिमिटेड (Private Limited) बनी कांग्रेस में नेताओं का दम घुट रहा है इसलिए वह पार्टी छोड़ रहे हैं।उन्होंने लोगों से उपचुनाव में भाजपा के पक्ष में मतदान करने की अपील की है जिससे प्रदेश के किसानों (Farmers) और आम जनता से धोखाधड़ी करने वाली कांग्रेस का पूरी तरह सफाया किया जा सके

कमल पटेल ने कहा कि कमलनाथ को इसकी भनक पहले ही लग चुकी थी इसलिए वह सदन में भी 35 करोड़ के ऑफर मिलने की बात कहकर दावा करने लगे थे कि उनके विधायक बिकाऊ नहीं हैं लेकिन इसके बाद भी वह अपने विधायकों को रोक नहीं पाए इसलिये अब उन्हें बिकाऊ कहना शुरू कर दिया।

कमल पटेल ने सवाल किया कि कमलनाथ क्या यह कह कहना चाहते हैं कि पूरी कांग्रेस बिकाऊ है, वह अपनी पार्टी का अपमान कर रहे हैं। मंत्री कमल पटेल ने फिर दोहराया कि कांग्रेस में लोकतंत्र नहीं बचा है, कांग्रेस उद्योगपति कमलनाथ की प्राइवेट लिमिटेड बनकर रह गई है, इससे वहां जनप्रतिनिधियों का दम घुटने लगा और उन्होंने भाजपा का दामन थाम लिया।

कमल पटेल ने कहा कि कांग्रेस अब पूरी तरह खत्म है, कांग्रेस के नेताओं को भी पता चल गया है कि प्रदेश में भाजपा का ही भविष्य है। कमलनाथ और कांग्रेस ने प्रदेश के किसानों, युवाओं, महिलाओं और वंचितों को ठगा है, कर्ज माफ नहीं करने से डिफॉल्टर हुए किसानों को संकट का सामना करना पड़ा, इन्हें सबक सिखाने का समय आ गया है। ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here