मध्यप्रदेश उपचुनाव : कांग्रेस का दावा-कमलनाथ सरकार के साथ दिपावली मनाएगी जनता

कांग्रेस का दावा है कि 10 नवंबर को पुनः लोकप्रिय और जन हितेषी सरकार कमलनाथ जी के नेतृत्व में बनेगी।मध्यप्रदेश में जन हितैषी कमलनाथ सरकार के साथ प्रदेश की जनता "दीपावली" मनाएगी।

भोपाल,डेस्क रिपोर्ट। लंबे इंतजार के बाद आज मंगलवार को आखिरकार चुनाव आयोग (Election commission) ने मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव का ऐलान कर दिया है। चुनाव की अधिसूचना नौ अक्टूबर को जारी की जाएगी। 3 नवंबर को मतदान और 10 नवंबर को परिणाम घोषित किए जाएंगे। नामांकन की अंतिम तारीख 16 अक्टूबर रखी गई है। 19 अक्टूबर तक नामांकन वापस लिए जा सकेंगे। इसी बीच पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ (Former Chief Minister and PCC Chief Kamal Nath) और एमपी कांग्रेस (MP Congress) की प्रतिक्रिया भी सामने आ गई है। कांग्रेस ने कमलनाथ सरकार के साथ  जनता के दीपावली मनाने का दावा किया है।

कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा है कि चुनाव आयोग द्वारा मध्यप्रदेश की 28 सीटों पर 3 नवंबर को उपचुनाव की घोषणा का स्वागत। कांग्रेस इन उपचुनावों को लेकर पूरी तरह से तैयार है। हमने अभी तक 24 प्रत्याशियों के नाम घोषित कर दिये है, शेष नाम भी हम शीघ्र घोषित करेंगे। मध्यप्रदेश की जनता एक लोकप्रिय , चुनी हुई , विकास की सोच वाली सरकार को सौदा कर गिराने वालों को इन चुनावों में कड़ा जवाब देगी।कांग्रेस का परचम इन सीटों पर निश्चित लहरायेगा और हम भाजपा को इन सीटों पर परास्त करेंगे।यह उप चुनाव जनादेश का अपमान , संवैधानिक मूल्यों व लोकतंत्र की हत्या करने वालों को कड़े जवाब के रूप में होगा।

कमलनाथ सरकार के साथ दिपावली मनाएगी जनता

वही पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने लिखा है कि आख़िर वह दिन आ ही गया ।लोकतंत्र के गद्दारों से किसानों के हत्यारो से 3 नवंबर को बदला लेना है।10 नवंबर को पुनः लोकप्रिय और जन हितेषी सरकार कमलनाथ जी के नेतृत्व में बनेगी। पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक सज्जन सिंह वर्मा ने लिखा है कि मध्यप्रदेश में जन हितैषी “कमलनाथ सरकार” के साथ प्रदेश की जनता “दीपावली” मनाएगी। कमलनाथ के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने लिखा है कि प्रदेश में 28 सीटों पर उपचुनाव की घोषणा होने के साथ ही अचार संहिता लागू। चलो अब प्रदेशवासियो को शिवराज जी की झूठी घोषणाओं से मुक्ति मिलेगी , झूठे भूमिपूजन – शिलान्यासों से आज़ादी मिलेगी। झूठ की मशीन अब बंद होगी।

एमपी कांग्रेस का 28 सीटों पर जीत का दावा
वही एमपी कांग्रेस ने लिखा है कि जयचंदों के अंत की तारीख़ का ऐलान हुआ ।लिखकर रख लो-मध्यप्रदेश में बीजेपी को एक भी सीट नहीं मिलेगी। अग्रिम चुनाव परिणाम ये रहा।“जीतेगा मध्यप्रदेश, जीतेगी कांग्रेस”
कांग्रेस- 28
बीजेपी- 0
अन्य- 0

मप्र का भविष्य तय करेंगे ये उपचुनाव
इतिहास में यह पहला मौका है जब एमपी की 28 सीटों पर उपचुनाव होने जा रहे है।यह चुनाव मप्र का भविष्य़ तय करेंगे। 25 सीटे सिंधिया समर्थकों और पूर्व विधायकों के इस्तीफे से खाली हुई है। वही तीन सीटे विधायकों के निधन के बाद खाली हुई है। इस बार का चुनाव दोनों ही दलों के लिए महत्वपूर्व माना जा रहा है, जहां भाजपा के लिए सरकार बचाना चुनौती है वही कांग्रेस के लिए कमबैक करना।वर्तमान में 230 सदस्यों वाली विधानसभा में किसी भी दल को पूर्ण बहुमत हासिल नहीं है, BJP को पूर्ण बहुमत के लिए जहां 9 विधानसभा क्षेत्रों में जीत दर्ज करनी है, वहीं कांग्रेस को सभी 28 स्थानों पर जीत हासिल करनी होगी, तभी उसे पूर्ण बहुमत हासिल हो पाएगा।

कांग्रेस ने इन 24 सीटों पर घोषित किए उम्मीदवार
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की सहमति के बाद कांग्रेस पार्टी महासचिव मुकुल वासनिक (Mukul Wasnik) ने मध्यप्रदेश उपचुनाव के लिए 9 उम्मीदवारों के नामों की दूसरी सूची जारी की है, जिसमें कांग्रेस ने जौरा सीट से पंकज उपाध्याय, सुमावली से अजब कुशवाह, ग्वालियर पूर्व से सतीश सिकरवार, पोहरी से हरिबल्लभ शुक्ला, मुंगावली से कन्हैया राम लोधी, सुरखी से पारूल साहू, मांधाता से उत्तम राज नारायण सिंह, बदनावर से अभिषेख सिंह टिंकू बाना एवं सुवासरा से राकेश पाटीदार को टिकट दिया है। इन उम्मीदवारों में से सतीश सिकरवार, अजब कुशवाह एवं पारूल साहू हाल ही में भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए हैं। इससे पहले कांग्रेस 11 सितंबर को अपनी पहली सूची में 15 सीटों के लिए उम्मीदवार घोषित किया गया था, जिसमें दिमनी, अंबाह, गोहद, ग्वालियर, डबरा, भांडेर, करैरा, बमोरी, अशोकनगर, अनूपपुर, सांची, आगर, हाटपिपलिया, नेपानगर और सांवेर शामिल हैं। कांग्रेस की पहली सूची में जारी उम्मीदवारों में से प्रेमचंद गुड्डू, सत्यप्रकाश सिकरवार, सुरेश राजे एवं कन्हैयालाल अग्रवाल पहले भाजपा में रह चुके हैं, जबकि फूल सिंह बरैया एवं प्रागीलाल जाटव पहले बसपा के नेता रह चुके हैं।

भाजपा का औपचारिक ऐलान बाकी
इधर भाजपा ने अबतक अपने पत्ते नही खोले है। आम तौर पर चुनाव में प्रत्याशियों को की घोषणा के इस मामले में भाजपा (BJP) कांग्रेस से आगे रहती है। लेकिन इस बार वह कांग्रेस से पिछड़ गई है। भाजपा ने अब तक एक भी सीट पर प्रत्याशियों की घोषणा नहीं की है।सुत्रों की माने तो कई सीटों पर प्रत्याशियों के विरोध के चलते अंदरखानें में मंथन चल रहा है।हालांकि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) का कहना है कि हमारे तो प्रत्याशी घोषित ही हैं सब काम कर रहे हैं।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here