नगर सरकार के घमासान की तस्वीर हुई साफ, अब मैदान मे ये योद्धा

अब 16 नगर निगमों में कहां पर किससे किसकी लड़ाई है, आइये जानते है...

मप्र निकाय चुनाव

भोपाल,डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में नगर निगम चुनाव (madhya pradesh municipal elections) के लिए बुधवार काे नाम वापसी की समय सीमा खत्म होने के बाद अब 16 नगर निगमों में स्पष्ट हो गया है, कि इस बार चुनावी मुकाबला काफी रोचक है। इस बार भाजपा और कांग्रेस के चुनावी गणित को बिगाड़ने की कोशिश में आम आदमी पार्टी भी जुटी है, वहीं दोनों ही दलों को टिकट बंटवारे की वजह से कार्यकर्ताओं की नाराजगी को भी झेलना पड़ रहा है। अब 16 नगर निगमों में कहां पर किससे किसकी लड़ाई है, आइये जानते है…

भोपाल में महापौर पद के लिए अब 8 प्रत्याशी मैदान में
भोपाल नगर निगम में मेयर का चुनाव इस बार काफी दिलचस्प होने वाला है। क्योंकि यहाँ नगर निगम में मेयर के अब 8 उम्मीदवार मैदान में बचे हैं। इनमें बीजेपी से मालती राय, कांग्रेस से विभा पटेल, बसपा से प्रिया मकवाना, जनता दल (यूनाइटेड) की मंजू यादव, जय लोक पार्टी की संगीता प्रजापति, निर्दलीय लेखा जायसवाल, रईसा बेगम मलिक और सीमा नाथ शामिल हैं। रईसा मलिक ने आम आदमी पार्टी से नामांकन भरा था, लेकिन उन्हें पार्टी ने मेंडेड नहीं दिया। इस कारण वे निर्दलीय हो गई हैं। अब इन्हीं प्रत्याशियों के बीच मुकाबला होगा। बता दें कि 18 जून को दोपहर 3 बजे तक कुल 12 कैंडिडेट्स ने नॉमिनेशन भरा था। इनमें से आम आदमी पार्टी की कैंडिडेट रानी विश्वकर्मा ने अपना नॉमिनेशन वापस ले लिया था। वहीं, बीजेपी से नॉमिनेशन भरने वाली मंजू दायमा, कांग्रेस से नॉमिनेशन भरने वाली ज्योति मांडलिक ने भी नामांकन वापस ले लिए। एक कैंडिडेट का नामांकन निरस्त हो गया था।

इंदौर में महापौर पद के लिए अब 19 प्रत्याशी मैदान में
इंदौर में मेयर पद के लिए मुकाबला दिलचस्प देखने को मिल सकता है। यहां कुल 19 प्रत्याशी मैदान में हैं। इनमें पुष्यमित्र भार्गव (भाजपा), संजय शुक्ला (कांग्रेस), कमल कुमार गुप्ता (आप), कुलदीप पवार (एनसीपी), बाबुलाल सुखराम (निर्दलीय), डॉ. संजय बिंदल, (निर्दलीय), नासिर मोहम्मद सहित सभी 19 प्रत्याशी हैं। इनमें से किसी ने नामांकन वापस नहीं लिया है। 17 बार चुनाव हार चुके और इंदौर से सबसे पहले नामांकन फॉर्म जमा करने वाले परमानंद तोलानी भी मैदान में डटे हुए हैं।

ग्वालियर में महापौर पद के लिए अब 7 प्रत्याशी मैदान में
ग्वालियर नगर निगम में महापौर पद के लिए 7 महिलाएं मैदान में हैं। जिनके बीच कड़ा मुकाबला होगा। इनमें भाजपा से सुमन शर्मा, कांग्रेस से डॉ. शोभा सतीश सिकरवार, आम आदमी पार्टी से रूचि गुप्ता, बहुजन से सुनीता गौतम, अन्य दलों से सुनीता पाल, विद्याबाई पत्नी खेमराज, हेमलता पत्नी मुकेश सोनी मैदान में हैं। जबकि पांच महिला प्रत्याशियों ने नाम वापस ले लिए हैं। अब इनके ही ही कड़ा मुकाबला होगा।

जबलपुर में महापौर पद के लिए अब 11 प्रत्याशी मैदान में
नगर निगम जबलपुर में महापौर पद के लिए चार उम्मीदवारों ने अपने नाम वापस लिए हैं, जिसमें शिवसेना के ठानेश्वर महावर, आम आदमी पार्टी के रईस वली, बहुजन समाज पार्टी के राकेश समुंद्रे व निर्दलीय नकुल गुप्ता ने अपने नाम वापस ले लिए। अब 11 उम्मीदवार महापौर के लिए मैदान में हैं। जगत बहादुर सिंह (कांग्रेस), लखन अहिरवार (बहुजन समाज पार्टी), इंद्रकुमार – निर्दलीय, रश्मि पोर्ते – (गोंडवाना गणतंत्र पार्टी), शशि स्टैला – निर्दलीय, सचिन गुप्ता – (स्मार्ट इंडियन पार्टी), डॉ. जितेंद्र जामदार (भाजपा), राजेश सेन – निर्दलीय, भूपेंद्र मेहरा – निर्दलीय, राजकुमार त्रिपाठी – निर्दलीय, विनोद कुमार – जनता दल (यू)। वहीं, पूर्व में शशि सिंह बघेल का निर्देशन पत्र रद्द हुआ है।

रतलाम में महापौर पद के लिए अब 7 उम्मीदवार मैदान में
भाजपा के प्रहलाद पटेल, कांग्रेस के मयंक जाट, आम आदमी पार्टी के अनवर खान, समाजवादी पार्टी की आफरीन खान, नेशनलिस्ट पार्टी के जहीरूद्दीन और भाजपा के बागी उम्मीदवार अरुण राव महापौर पद के मुकाबले में बचे हुए हैं। इससे पहले कांग्रेस के राजीव रावत और प्रकाश प्रभु राठौड़ ने महापौर पद से नामांकन वापस ले लिया। भाजपा से भी अशोक पोरवाल और सीमा टांक ने शहर विधायक और जिलाध्यक्ष के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचकर अपना नाम वापस ले लिया।

छिंदवाड़ा में महापौर पद के लिए अब 10उम्मीदवार मैदान में
छिंदवाड़ा ने निगम चुनाव की तस्वीर पूरी तरह स्पष्ट हो चुकी है। नाम वापसी के दौरान कांग्रेस ने महापौर पद के हुए नामांकन दाखिल करने वाले गुरु प्रसाद धुर्वे, राघवेंद्र शाह, संजय परतेती को मना लिया। अब कांग्रेस की ओर से सिर्फ अधिकृत उम्मीदवार विक्रम अहाके ही मैदान में हैं। उधर, भाजपा अपने बागी जितेंद्र शाह को मनाने में असफल रही। भाजपा के अनंत धुर्वे को कांग्रेस के साथ अपने ही साथी शाह से भी लड़ना होगा। छिंदवाड़ा निगम में महापौर के लिए 10 उम्मीदवार बचे हुए हैं।

बुरहानुपर में महापौर पद के लिए अब 7 उम्मीदवार मैदान में
मध्यप्रदेश में जारी निकाय चुनावों में आज बुरहानपुर में होने वाले महापौर चुनाव के लिए मैदान में डटे उमीदवारों की स्थित साफ हो गई है। जिसके बाद अब से बुराहनपुर के महापौर के लिए 7 दावेदार मैदान में हैं, जिसमें भाजपा, कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी, आम आदमी पार्टी, एआईएमआईएम और निर्दलीय उम्मीदवार शामिल हैं। यहां पर सीधा मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच में है। नगर के 48 वार्डों के लिए 336 दावेदारों ने नामांकन जमा किए थे। भाजपा से बागी होकर निर्दलीय चुनाव में खड़े 8 निर्दलीयों ने फार्म वापस उठा लिए। वहीं, कांगेस से 3 निर्दलीय उम्मीदवारों ने फार्म वापस ले लिया।

सागर में महापौर पद के लिए अब 8 उम्मीदवार मैदान में
सागर में नाम वापसी के बाद सागर नगर निगम में महापौर पद के लिए 8 उम्मीदवार मैदान में है। भाजपा के संगीता तिवारी, कांग्रेस के निधि जैन, आम आदमी पार्टी के सावित्री, गीता कुशवाहा निर्दलीय, उषा सोनी महापौर पद के मुकाबले में बचे हुए हैं। इसमें आप पार्टी की दावेदार रश्मि ने डमी नामांकन वापस लिया गया है।

देवास में महापौर पद के लिए अब 6 उम्मीदवार मैदान में
भाजपा की गीता अग्रवाल, कांग्रेस की विनोदिनी व्यास, आम आदमी पार्टी से चाना ज्ञानेश, बहुजन समाज पार्टी से निकिता सूर्यवंशी, निर्दलीय मनीषा दीपक चौधरी, निर्दलीय जुबेदा बी मैदान में हैं। हालांकि आशा दिलीप बांगर ने अपना फार्म खींच लिया।

उज्जैन में 5 प्रत्याशी मैदान में
उज्जैन महापौर पद के लिए कुल 5 प्रत्याशी मैदान में हैं। इसमें बीजेपी कांग्रेस से एक-एक और आप, बहुजन समाज पार्टी और निर्दलीय से एक उम्मीदवार का मुकाबला होगा। साथ ही, बीजेपी कांग्रेस के दोनों ही पार्टियों में रूठना और मनाने का दौरा दिन भर चलता रहा। बता दें कि मुकेश टटवाल भाजपा से, महेश परमार कांग्रेस से, प्रकाश चंद्र नरवरिया बसपा से,संतोष वर्मा आप पार्टी से, बीएल चौहान निर्दलीय प्रत्याशी मैदान में है, और कांग्रेस की से वार्ड पार्षद के लिए 150 से ज्यादा दावेदारों ने अंतिम दिन नाम वापस ले लिया। इसके बाद कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशियों ने राहत की सांस ली है। इधर, बीजेपी की बात करें तो 50 से अधिक दावेदारों ने नाम वापस लिए। हालांकि वार्ड क्रमांक 42 से राधेश्याम वर्मा और वार्ड क्रमांक 53 से बीजेपी कार्यकर्ता ने अपना नाम वापस नहीं लिया।

खंडवा में महापौर पद के लिए अब 5 प्रत्याशी मैदान में
खंडवा में महापौर पद के दो उम्मीदवारों के साथ एक दर्जन से अधिक पार्षद पद के उम्मीदवारों ने आखिरी दिन अपना नामांकन वापस ले लिया। ऐसे में यह कहा गया कि बीजेपी अपनी प्रेशर पॉलिटिक्स में सफल रही। बीजेपी ने पेंशनर्स संघ की प्रत्याशी 69 वर्षीय कमला ठाकुर से नामांकन वापसी कराया। नामांकन वापसी के बाद भाजपा नेताओं के साथ बाहर निकली कमला ठाकुर बिलख-बिलखकर रो पड़ीं। उन्होंने कहा मुझे जनता से काफी उम्मीद थी, लेकिन भाजपा के समर्थन में नामांकन वापस लेना पड़ा। इधर, कांग्रेस के समर्थन में जाकिर ने फार्म वापस लिया। अब मैदान में महापौर के कुल 5 प्रत्याशी हैं।

सिंगरौली में महापौर पद के लिए अब 12 प्रत्याशी मैदान में
सिंगरौली से नगर निगम महापौर और पार्षद के लिए किसी भी उम्मीदवार ने नामांकन वापस नहीं लिया। महापौर के लिए कुल 12 प्रत्याशी मैदान में हैं। मुकाबला भाजपा के चंद्र प्रकाश विश्वकर्मा और कांग्रेस के अरविंद चंदेल के बीच रहेगा। वहीं, वार्ड पार्षद में कुल 261 चुनावी मैदान में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।

मुरैना में महापौर पद के लिए अब 6 प्रत्याशी मैदान में
मुरैना में मेयर पद के नाम वापसी के आखिरी दिन सिर्फ एक प्रत्याशी ने फॉर्म खींचा। इसमें निर्दलीय प्रत्याशी आरती पत्नी संजय ने नाम वापस लिया। इसके बाद कुल छह प्रत्याशी मैदान में हैँ। मुख्य मुकाबला भाजपा की मीना जाटव और कांग्रेस की शारदा सोलंकी के बीच है।

रीवा में महापौर पद के लिए अब 13 प्रत्याशी मैदान में
नाम वापसी के आखिरी दिन बहुजन समाज पार्टी के रामानुज सोंधिया ने अपना नामांकन उठा लिया। इसके बाद अब कांग्रेस भाजपा समेत 13 प्रत्याशी मैदान में हैं। इनमें अजय मिश्रा बाबा, कांग्रेस, धनंजय सिंह, निर्दलीय, प्रबोध व्यास, भाजपा, श्रीकृष्ण गुप्ता, शिवसेना, नूरुल हसन, निर्दलीय, शैलेन्द्र कुमार सोनी, निर्दलीय, दीपक सिंह, आम आदमी पार्टी, जय प्रकाश, बहुजन समाज पार्टी,, चिकित्सामणि गुप्ता, समाजवादी पार्टी, देवेन्द्र शुक्ला, निर्दलीय, प्रेमनाथ जायसवाल, निर्दलीय, रामचरण शुक्ला, निर्दलीय और अब्दुल वफाती अंसारी, निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं।

सतना में महापौर पद के लिए अब 9 प्रत्याशी मैदान में
नगर पालिक निगम सतना के महापौर पद के लिए भाजपा के बागी मनसुख और बसपा के डमी कैंडिडेट गेंदलाल ने पर्चे वापस ले लिए हैं। इन दोनों के नाम वापस लेने के बाद अब सतना नगर निगम के महापौर पद की चुनावी लड़ाई में 9 प्रत्याशी मैदान में बचे हैं। भाजपा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष मनसुख पटेल ने योगेश ताम्रकार को प्रत्याशी बनाए जाने के खिलाफ बगावत की थी, जबकि गेंदलाल ने बसपा प्रत्याशी सईद अहमद के समर्थन में डमी कैंडिडेट के तौर पर पर्चा भरा था। इन दोनों के मैदान छोड़ने के बाद अब भाजपा से योगेश ताम्रकार, कांग्रेस से सिद्धार्थ कुशवाहा, बसपा से सईद अहमद, आप से बीके विश्वकर्मा, सपा से बृजेश यादव,जदयू से रवीना, शिव सेना से अरुण कुमार और निर्दलीय रविशंकर मैदान में बचे हैं। एक और निर्दलीय संतोष भी महापौर पद के प्रत्याशी हैं।

कटनी में महापौर पद के लिए अब 12 प्रत्याशी मैदान में
नगरीय निकाय चुनाव में कटनी महापौर के पद के चुनाव के लिए 14 प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किया था। नामांकन वापस लेने के आखिरी दिन 22 जून को दो प्रत्याशियों ने नामांकन वापस ले लिया है। इसके बाद मैदान में महापौर पद के 12 प्रत्याशी किस्मत आजमा रहे हैं। निर्दलीय प्रत्याशी उषा पांडेय और एक अन्य ने नामांकन वापस ले लिया है। महापौर पद के लिए भाजपा से ज्योति बिना दीक्षित, कांग्रेस पार्टी से श्रेहा रौनक खंडेलवाल, आम आदमी पार्टी से शशि प्रभा तिवारी, बहुजन समाजवादी पार्टी से अंजलि, समाजवादी पार्टी से अनीता सहित निर्दलीय चुनाव लड़ने वालों ने प्रीति संजय सूरी, अंकिता, साजिदा बी, नसीम खान, सूफिया खान, शमीमा बेगम, मंजूषा गौतम का नाम शामिल हैं।