मंत्री सारंग का बयान, कहा मेरी जितनी भी विधायक निधि है उसको कोरोना संकट में जहां खर्च करना है करिए

मंत्री ने कहा कि मैंने भोपाल कलेक्टर को पत्र लिख कहा कि मेरी जितनी भी विधायक निधि है उसको कोरोना संकट में जहां खर्च करना है करिए। मेरी संपूर्ण विधायक निधि कोरोना संक्रमित मरीजों को समर्पित है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में बढ़ते कोरोना (Corona Epidemic) महामारी से निपटने की लिए अब मप्र चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग (Vishvas Kailash Sarang) का एक और बयान सामने आया है, मंत्री ने कहा कि मैंने भोपाल कलेक्टर को पत्र लिख कहा कि मेरी जितनी भी विधायक निधि है उसको कोरोना संकट में जहां खर्च करना है करिए। मेरी संपूर्ण विधायक निधि कोरोना संक्रमित मरीजों को समर्पित है।

यह भी पढ़ें…अब इस जिले में 10 मई तक बढ़ा कोरोना कर्फ्यू, कलेक्टर ने जारी किया आदेश

मंत्री विश्वास सारंग ने भोपाल कलेक्टर को आदेशित करते हुए कहा कि उनकी संपूर्ण विधायक निधि को कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज में लगाया जाए कलेक्टर अपने स्वविवेक से उन्हें जो जरूरी चिकित्सीय उपकरण लगें उनकी खरीदी करवाए। अस्पतालों में बेड, ऑक्सीजन,ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की व्यवस्था की जाए, रेमडेसिवीर और अन्य जीवन रक्षक इंजेक्शन खरीदे जाएं जिससे लोगों की जान बचाई जा सके।

आक्सीजन प्लांट लगाने पर बोले सारंग
मप्र में आक्सीजन प्लांट लगाने को लेकर सारंग ने कहा कि सरकार ने एक नई नीति बनाई है जो भी निजी तौर पर प्लांट लगाएगा उसको 50 प्रतिशत की छूट दी जाएगी साथ ही और भी रियायतें सरकार देगी। हम हर तरीके से ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए लगे हुए हैं। ऑक्सीजन एक बड़ी चुनौती है हम देश के हर कोने से ज्यादा से ज्यादा ऑक्सीजन मंगवाने की कोशिश कर रहे हैं चाहे वह सड़क के माध्यम से हो. रेल के माध्यम से हो या विमान के माध्यम से हो। इसके साथ ही हमारी और भी वैकल्पिक व्यवस्थाएं हैं जिन पर हम काम कर रहे हैं, पूरे प्रदेश में हर स्थान पर हम ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट लगाएंगे, हर जिलों में कम से कम एक या दो ऑक्सीजन प्लांट हमारे द्वारा लगाए जाएंगे ताकि आक्सीजन की कमी ना रहे। वही वैक्सीन को लेकर मंत्री सारंग ने कहा कि जैसे ही वैक्सीन के डोज आएंगे हमारी पूरी तैयारी है हम उनको लगाएंगे , वही यूपी में बढ़ते कोरोना को लेकर कहा कि यूपी से लगे आसपास के जिलों की सीमाओं को हम सील करेंगे और वहां से आवागमन पर प्रतिबन्ध लगाएंगे जिससे हमारे यहां संक्रमण न फैले।

यह भी पढ़ें…कोरोना : 31 मई तक बढ़ाई गई अंर्तराष्ट्रीय उड़ानों पर लगी रोक