भोपाल की ऐश्वर्या ने सिंगापुर में लहराया परचम

NLIU--bhopal-girl-aiswarya-WINS-BIG-IN-SINGAPORE

भोपाल।  सिंगापुर में आयोजित इंटरनेशनल इन्सॉल्वेंसी लॉ मूट कोर्ट प्रतियोगिता में नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी आफ इंडिया भोपाल के छात्रों ने राजधानी का नाम रोशन किया है। सिंगापुर में आयोजित मूट कोर्ट प्रतियोगिता में भोपाल की ऐश्वर्या श्रीवास्तव समेत (पांचवां वर्ष), उदयन आर्य (पांचवां वर्ष), क्रिस्टीना शजू (पांचवां वर्ष) और कुहू मिश्रा (तृतीय वर्ष) ने भाग लिया था। उनकी टीम प्रतिष्ठित इयान फ्लेचर के विश्व फाइनल में विजेता रही। ये प्रतियोगिता सिंगापुर में 29 से 31 मार्च को आयोजित की गई थी। किसी भी भारतीय टीम के लिए यह प्रतियोगिता जीतने का पहला मौका है, जो विश्व स्तर पर दिवालिया कानून में सबसे प्रतिष्ठित प्रतियोगिता है।

इस विश्व प्रतियोगिता में दुनिया भर के छात्रों ने हिस्सा लिया था। भोपाल से एनएलयूआई की टीम भी सिंगापुर में प्रतिनिधित्व कर रही थी। NLIU की टीम ने नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर (NUS), सिंगापुर मैनेजमेंट यूनिवर्सिटी (SMU), लीडेन यूनिवर्सिटी, नीदरलैंड, ब्रिटिश कोलंबिया विश्वविद्यालय, कनाडा और कई अन्य लोगों के बीच क्वींसलैंड प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, ऑस्ट्रेलिया की टीमों को हराया। मूट की समस्या क्रॉस बॉर्डर इन्सॉल्वेंसी पर UNCITRAL मॉडल कानून पर आधारित थी और इस प्रतियोगिता को दुनियाभर के कानून के जानकारों और शिक्षाविदों ने विभिन्न दौरों में जज की भूमिका निभाई।  सिंगापुर में, क्वार्टर फ़ाइनल, सेमी फ़ाइनल और फ़ाइनल के बाद 3 प्रारंभिक राउंड हुए। 

प्रख्यात अन्तर्राष्ट्रीय न्यायाधीशों के समक्ष मूट फाइनल में अपीलीय वकालत का शानदार प्रदर्शन था:

– जस्टिस स्टीवन चोंग, अपील के न्यायाधीश, सिंगापुर;

– मुख्य न्यायाधीश सीसिलिया मॉरिस, न्यूयॉर्क के दक्षिणी जिले, संयुक्त राज्य अमेरिका, तथा

– न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) अर्जन कुमार सीकरी, सुप्रीम कोर्ट, भारत।