MP News : मध्यप्रदेश में कोरोना के साथ स्वाइन फ्लू का भी खतरा बढ़ा

सीजनल इन्फ्लूएन्जा (Regional influenza) के मरीजों की स्क्रीनिंग, निदान, उपचार व रोकथाम के लिये और उपचार के लिए भारत शासन द्वारा तय किए गए प्रोटोकॉल और गाइडलाइन का पालन व कार्यवाही की जाए।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना महामारी (Corona Epidemic) के प्रकोप के बीच मौसम में हो रहे बदलाव के साथ मध्य प्रदेश में स्वाइन फ्लू (Swine Flu) का खतरा बढ़ चला है (Madhya Pradesh)। इससे निपटने और रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग (Health Department) ने अधिकारियों (Officers) को आवश्यक दिशा-निर्देश (guidelines) जारी किए हैं।

स्वास्थ्य संचालनालय (Directorate of Health) द्वारा राज्य के सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (Chief Medical And Health Officer) और सिविल सर्जन (Civil Surgeon) को लिखा गया है कि मौसम के बदलाव के कारण स्वाइन फ्लू सीजनल इन्फ्लूएन्जा (H-1 N-1) के प्रकरण होने की संभावना होती है। इसलिए संभावित सीजनल इन्फ्लूएन्जा (Regional influenza) के मरीजों की स्क्रीनिंग, निदान, उपचार व रोकथाम के लिये और उपचार के लिए भारत शासन द्वारा तय किए गए प्रोटोकॉल और गाइडलाइन का पालन व कार्यवाही की जाए।

बताया गया है कि इस बुखार का सबसे ज्यादा खतरा बच्चों, गर्भवती महिलाओं (Pregnant women), किसी घातक बीमारी से ग्रसित व्यक्ति को होता है, इसलिए उन्हें अधिक सतर्क रहने की जरुरत ज्यादा है। सभी स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि प्रतिदिन दो बार फीवर क्लीनिक में सर्दी-खांसी मरीजों की रिपोर्ट राज्य सर्विलेंस इकाई को भेजें तथा पूरा ब्यौरा रखा जाए।