भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग (Medical Education Minister Vishwas Sarang) ने कांग्रेस (Congress) पर निशाना साधा है। राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के फोटो के साथ कांग्रेस के वचन पत्र (Congress Vachan Patra) की रि-लॉन्चिंग पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा कि इस बात से साफ है कि कांग्रेसी, नेहरू परिवार (Nehru Family) की चमचागिरी के अलावा और कुछ नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि इस वचन पत्र का कोई मायने नहीं है। कांग्रेस की 15 महीने की सरकार ने अपने पूर्व के वचन पत्र की श्रद्धांजलि दी है।

मंत्री सारंग ने कहा कि पिछले वचन पत्र में जो वादे कांग्रेस ने किए थे उसमें से एक भी वादा उन्होंने पूरा नहीं किया, केवल भ्रष्टाचार किया है। इसके साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर निशाना साधते हुए विश्वास सारंग ने कहा कि कमलनाथ जी चमचागिरी करने में लगे हुए हैं। मध्य प्रदेश का किसान कर्ज माफी के बारे में पूछ रहा है, इसका जवाब कब देगी कांग्रेस ? वहीं स्टार प्रचारक की लिस्ट में ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम दसवें नंबर पर होने पर कांग्रेस की चुटकी पर मंत्री विश्वास सारंग ने पलटवार करते हुए कहा कि, ‘हमें दो बातें देखनी पड़ेगी, बीजेपी में किसी की वरीयता में कोई कमी नहीं है, कांग्रेस को राजनीति करने के लिए बस मुद्दा चाहिए।’

वहीं उपचुनाव में कांग्रेस के ‘मैं भी मर्यादा पुरुषोत्तम अभियान’ पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा, राम का नाम लेने का अधिकार कांग्रेस को नहीं है। कांग्रेस ने राम के अस्तित्व पर सवाल उठाए थे। कांग्रेस ने 15 महीने रावण राज्य चलाया है, उन्हें राम से कोई लेना देना नहीं है। कांग्रेस मध्यप्रदेश की आबो हवा को बिगाड़ना चाहती है। जो साबित करता है कि, कांग्रेस सामंतवादी पार्टी और उद्योगपति की पार्टी है।

मंत्री सारंग ने सिनेमाघरों के नहीं खोलने पर कहा कि, भारत सरकार की गाइडलाइन के साथ सिनेमाघर खोले जाएंगे। अभी सिनेमाघरों के मालिकों की कुछ मांगे हैं, उनको सुना जाएगा और इस पर विचार किया जाएगा। जिसके बाद जल्द ही प्रदेश में सिनेमाघर खोले जाएंगे।