जूनियर डॉक्टर्स की हड़ताल पर मंत्री विश्वास सारंग का बयान

मध्य प्रदेश के करीब 3500 जूनियर डॉक्टर्स ने अपनी लंबित मांगों को लेकर आज हड़ताल की है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के करीब 3500 जूनियर डॉक्टर्स (Junior doctors) ने अपनी लंबित मांगों को लेकर आज हड़ताल की है, जूडा (Junior Doctors Association) ने प्रदेश सरकार को यह भी चेतावनी दी है कि अगर उनकी मांगे पूरी नहीं हुई तो सभी तरह की इमरजेंसी सेवाएं भी बंद कर देंगे, इस पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग (Medical Education Minister Vishvas Sarang) का बयान सामने आया है उन्होंने कहा हड़ताल जैसी कोई स्थिति नहीं है जूडा से बात चल रही है, कोई डॉक्टर हड़ताल पर नहीं जाएंगे। सारंग ने कहा कि महामारी के दौर में सभी को अपने कर्तव्यों का निर्वहन करना चाहिए।

यह भी पढ़ें…जूनियर डॉक्टर्स की चेतावनी- मांगे नहीं मानी तो जायेंगे हड़ताल पर

प्रदेश में राजधानी भोपाल सहित इंदौर ग्वालियर जबलपुर जैसे बड़े शहर के डॉक्टर शामिल है, जूनियर डॉक्टर्स ने सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि बीते महीने 12 अप्रैल को मंत्री विश्वास सारंग द्वारा मांगे पूरी करने का आश्वासन दिए जाने के बाद उन्होंने आंदोलन स्थगित कर दिया था लेकिन इस बात को 3 हफ्ते भी चुके हैं लेकिन अब तक इस संबंध में कोई लिखित आदेश नहीं किया गया है, डॉक्टर से चेतावनी देते हुए कहा कि अगर लिखित में उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जाता है तो कोरना बोर्ड की भी सेवाएं रोक दी जाएंगी वहीं अगर ऐसा हुआ तो खोलना संक्रमित मरीजों की परेशानी बढ़ सकती है।