जब मंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव बोले- सबकी नाराजगी सुनने और सहने के लिए मैं तो हूँ

बृजेन्द्र सिंह यादव

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। शिवराज सरकार (Shivraj Government) में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्यमंत्री एवं कोविड-19 प्रभारी मंत्री  बृजेन्द्र सिंह यादव (Minister of State for Public Health Engineering Brijendra Singh Yadav) का बड़ा बयान सामने आया है। मंत्री  बृजेन्द्र सिंह यादव ने कहा है कि  सभी की नाराजगी सुनने और सहन करने के लिए मैं तो हूँ।  अस्पतालों में प्रतिदिन आकर चिकित्सक और रोगियों से इसी लिए मिलता हूँ ताकि किसी भी प्रकार की कठिनाई को दूर किया जा सकें। हमें नाराजगी सहन करने की आदत डालना चाहिए क्योंकि यह संकट की घड़ी है।

यह भी पढ़े.. मप्र में हड़ताल पर जाने की तैयारी में जूनियर डॉक्टर्स, कोरोना मरीजों की होगी फजीहत

लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्यमंत्री एवं कोविड-19 के अशोकनगर जिला प्रभारी मंत्री  बृजेन्द्र सिंह यादव आज चंदेरी सिविल अस्पताल के चिकित्सक एवं चिकित्सा कर्मियों से मिलने पहुंचे थे, जहां उन्होंने कहा कि इस समय आम नागरिक की परेशानी और स्वास्थ्य को लेकर चिंतायें अधिक हैं। चिकित्सालय में आने वाले रोगी अथवा उनके परिजन यही चाहेंगे कि उन्हें तत्काल उपचार की सुविधा मिल जाय। थोड़ी भी देर होने पर उनकी नाराजगी स्वभाविक है। हमें नाराजगी सहन करने की आदत डालना चाहिए क्योंकि यह संकट की घड़ी है।

वही इस उक्ताशय की समझाइश देते हुए बृजेन्द्र सिंह यादव ने कहा कि सभी की नाराजगी सुनने और सहन करने के लिए मैं तो हूँ।  अस्पतालों में प्रतिदिन आकर चिकित्सक और रोगियों से इसी लिए मिलता हूँ ताकि किसी भी प्रकार की कठिनाई को दूर किया जा सकें।वही सिविल अस्पताल को कोरोना गाइडलाइन और भर्ती रोगियों की सुविधा व संख्या के अनुसार समय-समय पर सेनेटाइज किए जाने के निर्देश दिए। चंदेरी टीआई को निर्देश दिए की शादी तथा अन्य आयोजनों में कोरोना गाइडलाइन से अधिक व्यक्ति एकत्रित नहीं हों यह सुनिश्चित किया जाय।

यह भी पढ़े.. Teacher Recruitment :शिक्षक भर्ती के लिए दस्तावेजों का सत्यापन 25 मई तक स्थगित

चंदेरी सिविल अस्पताल में आऊटसोसिंग से कार्य कर रहे 5 कर्मचारियों ने बृजेन्द्र सिंह यादव को बताया कि उन्हें वेतन नहीं मिल रहा है, तो उन्होंने  3 कर्मचारियों को तत्काल 3-3 हजार रूपये देते हुए कहा कि निजी तौर पर वे प्रत्येक कर्मचारी को हर माह 5-5 हजार रूपये की आर्थिक मदद देते रहेंगे। इससे पहले 30 अप्रैल को भी सिविल अस्पताल मुंगावली में कार्यरत 10 कर्मचारियों द्वारा वेतन नहीं मिलने की जानकारी दिए जाने पर यादव ने उन सभी को 5-5 हजार रूपये मासिक रूप से दिए जाने का आश्वासन दिया था। आज मुंगावली अस्पताल पहुँचकर उन सभी 10 कर्मचारीयों को 5-5 हजार रूपये नगद प्रदान किये।