जनजातीय गौरव दिवस के लिए अलसुबह रवाना हुई बसें, होटलियर्स एसोसिएशन ने किया स्वागत

आज भोपाल के जंबूरी मैदान में आदिवासियों के आराध्य भगवान बिरसा मुंडा की जयंती अवसर पर जनजातीय गौरव दिवस का ऐतिहासिक कार्यक्रम आज पीएम नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में होगा।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर सम्भाग के खरगोन सहित अन्य जिलों के जनजातीय समुदाय से जुड़े हजारो लोगों की मेजबानी इंदौर ने की है। दरअसल, भोपाल के जंबूरी मैदान में आदिवासियों के आराध्य भगवान बिरसा मुंडा की जयंती अवसर पर जनजातीय गौरव दिवस का ऐतिहासिक कार्यक्रम आज पीएम नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में होगा। वहीं कार्यक्रम की शुरुआत पीएम के आने से पहले भोपाल में ठीक 10.30 बजे हो जाएगी।

ये भी देखें- MP News: लापरवाही पर 2 निलंबित, 4 कर्मचारियों को नोटिस, 2 परिवहनकर्मी भी नपे

इसके पहले इंदौर में रुके आदिवासी मेहमान इंदौर से सुबह 4 बजे से ही बसों द्वारा भोपाल के लिए रवाना हो गए। बसों की रवानगी के पहले इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने हर स्थान पर व्यवस्था के लिहाज से अधीनस्थ अधिकारियों से वन टू वन चर्चा की। वहीं हजारो संख्या में बसों से रवाना हुए आदिवासी समुदाय से जुड़े लोगों के लिये तमाम व्यवस्था की गई। इंदौर बायपास स्थित होटल, गार्डन्स सहित अन्य स्थानों पर करीब 2000 से ज्यादा लोग रुके हैं जिन्हें 60 चार्टर्ड बसों के जरिये भोपाल रवाना किया गया।

सभी आदिवासी मेहमान चाय-नाश्ता करने के बाद बसों में बैठकर भोपाल के लिए रवाना हुए, इस दौरान इंदौर के होटलीयर्स एसोसिएशन ने बायपास पर सभी बसों में बैठे लोगों का पुष्प बरसाकर स्वागत किया और भोजन के पैकेट और पानी की बोतलें भी दी गई।

बता दे कि भोपाल में आयोजित होने वाले जनजाति गौरव दिवस के आयोजन का सर्वाधिक उत्साह इंदौर डिवीज़न में ही देखने को मिल रहा है। इंदौर से भोपाल के लंबे सफ़र में होने वाली असुविधा को देखते हुए दूर दराज़ के स्थानों से जनजातीय समुदाय के लोगों को एक दिन पूर्व ही आमंत्रित कर लिया गया था। इंदौर, देवास और सीहोर में इंदौर संभाग के वनवासियों के लिए रहने की उत्तम व्यवस्था की गई थी।

वहीं उत्साह और मुस्तैदी की बानगी इस बात से देखी जा सकती है कि अल सुबह सभी बसें भोपाल के लिए रवाना हो चुकी थीं। कलेक्टर मनीष सिंह ने सुबह 4 बजे से विभिन्न स्थानों पर तैनात अधिकारियों से दूरभाष पर चर्चा की और व्यवस्थाओं का जायजा लिया। भोपाल रवाना होने के पूर्व सभी लोगों को चाय-नाश्ता कराया गया और उनके वाहनों में भोजन के पैकेट भी रखवाए गए। बता दें कि भोपाल में कार्यक्रम समाप्ति के बाद दोबारा सभी आमंत्रित मेहमान इंदौर में तय स्थानों पर रात्रि विश्राम करेंगे और मंगलवार सुबह वो अपने घरों के लिये बसों के जरिये रवाना होंगे।