छतरपुर : NRI लोगों के सहयोग से तैयार हुआ 21 बेड वाला वार्ड

छतरपुर, संजय अवस्थी। कहते हैं कि हर इंसान के अपनी मातृभूमि सबसे प्यारी होती है और जब वहां किसी तरह की आपदा आती है तो सब एकजुट हो जाते हैं। पिछले दिनों जब छतरपुर में कोरोना वायरस के चलते स्थितियां बिगड़ी तो विदेश में रहने वालों यहां के लिए मदद भेजी है। इन्होने जिला अस्पताल में एक 21 बिस्तरों वाला सर्वसुविधायुक्त वार्ड तैयार करवाया है।

गुना में मिले 4 कोरोना मरीज, पॉजिटिविटी रेट 25वें दिन भी 5 प्रतिशत के अंदर

दरअसल शहर के शुक्लाना मोहल्ले में रहने वाले प्रेमबिहारी नौगरैया के पुत्र और दंत चिकित्सक डॉ. अशोक नौगरैया के भाई डॉ. अरुण नौगरैया एनआरआई हैं और वर्तमान में वे मलेशिया की पहांग यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर के पद पर पदस्थ हैं। एनआरआई अरुण नौगरैया को छतरपुर जिले के हालात की जानकारी मिली जिसके बाद उन्होंने जिला अस्पताल में पदस्थ डॉ. शरद चौरसिया से फोन पर संपर्क किया और पूछा कि वे उनकी क्या मदद कर सकते हैं। इस पर डॉ. चौरसिया ने उन्हें बताया कि जिला अस्पताल में बिस्तरों की कमी है, यदि वे मदद करना चाहते हैं तो अस्पताल को बिस्तर उपलब्ध करा सकते हैं। इसके बाद एनआरआई अरुण नौगरैया ने उन्हीं की तरह विदेश में रहने वाले छतरपुर शहर के अन्य लोगों से संपर्क किया और उनकी पहल पर विदेश में रह रहे 21 लोगों के सहयोग से जिला चिकित्सालय की पांचवी मंजिल पर 21 बिस्तरों वाला एक सर्वसुविधा युक्त वार्ड तैयार कराया गया है। इस वार्ड का मंगलवार को डॉ. महेंद्र गुप्ता ने शुभारंभ किया। इस मौके पर एनआरआई अरुण नौगरैया के पिता प्रेमबिहारी नौगरैया ने विधिवत पूजा-अर्चना की और डॉ. राजेश जैन, डॉ. शरद चौरसिया, डॉ. अशोक गुप्ता, डॉ. राजकुमार अवस्थी, गहोई समाज के राजेन्द्र खरया, बबलू सरावगी, बाबूलाल कटारे, रवि नीखरा, राजेश रूसिया, जयदीप बृजपुरिया, गहोई समाज के मीडिया प्रभारी रोहित गुप्ता सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

इन लोगों ने किया सहयोग
एनआरआई अरुण नौगरैया ने बताया कि इस वार्ड को तैयार कराने के लिए उनके अलावा 20 लोगों ने एक-एक बिस्तर का सहयोग किया है जिनमें विश्वास पहारिया, वत्सल गुप्ता, डॉ. रितु गुप्ता, रामकुमार पहारिया, प्रो. अब्दुल रहमान हामिद नूर, मुस्तफा कंग, आरपी गुप्ता, श्रीमती विजय कुमारी गुप्ता, किंजल शाह, रोहित पसरीजा, साई बासू, सुकेश रॉय, सौरभ माथुर, मोहम्मद अशरफ, जैकी मीव्हा, वाल्टर वैंगेरट, प्रेमबिहारी नौगारिया, श्रीमती मानकुंवर नौगरैया, रवि गुप्ता और बाबूलाल कटारे शामिल हैं। इसके साथ ही एक बिस्तर का सहयोग पहांग यूनिवर्सिटी मलेशिया ने भी दिया है।

छतरपुर शहर को हाईटेक बनाने का प्रयास
एनआरआई अरुण नौगरैया ने बताया कि वे छतरपुर शहर को हाईटेक बनाने का प्रयास कर रहे हैं। इसके लिए दुनिया के अलग-अलग देशों में रहने वाले शहर के लोगों का हाईटेक छतरपुर नाम से व्हाट्सएप ग्रुप एवं फेसबुक पेज बनाया जाएगा जिसमें इन लोगों के साथ विचार-मंथन करने के बाद शहर को विकसित करने की रणनीति तैयार की जाएगी। उन्होंने बताया कि उनकी प्राथमिकता छतरपुर जिले की शिक्षा और स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को मजबूत बनाना रहेगी इसके अलावा अन्य क्षेत्रों का विकास भी किया जाएगा।

छतरपुर : NRI लोगों के सहयोग से तैयार हुआ 21 बेड वाला वार्ड