खजुराहो में शुरू होगी फ्लाईंग ट्रेनिंग अकेडमी, देश-विदेश के कैडेट्स लेंगे प्रशिक्षण

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने खजुराहो में शुरू होगी फ्लाईंग ट्रेनिंग अकेडमी शुरू करने का एलान किया है। जहां देश-विदेश के कैडेट्स को हवाई जहाज उड़ाने का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

छतरपुर, संजय अवस्थी। विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल खजुराहो (Khajuraho) के हवाई अड्डे पर अब देश-विदेश के कैडेट्स हवाई जहाज और हैलीकॉप्टर्स को उड़ाने की ट्रेनिंग हासिल कर पाएंगे। भारत सरकार के नागरिक उड्डयन मंत्रालय (Ministry of Civil Aviation) ने देश के 4 राज्यों के 5 हवाई अड्डों पर 8 उड़ान प्रशिक्षण अकादमियां (Flight Training Academies) प्रारंभ करने का ऐलान किया है। इस योजना के लिए मप्र के खजुराहो हवाई अड्डे (Khajuraho Airport) को भी शामिल किया गया है।

यह भी पढ़ें:-अजय सिंह ने कमलनाथ पर साथा निशाना, कांग्रेस की अंतर्कलह पर बीजेपी ने ली चुटकी

खजुराहो सांसद वीडी शर्मा (MP VD Sharma) एवं छतरपुर कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह (Chhatarpur Collector Sheelendra Singh) के प्रयास से कोविड चुनौतियों के बीच भारत सरकार के द्वारा खजुराहो को चयनित कराने में अहम भूमिका निभाई गई है। नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने कहा है कि खजुराहो एयरपोर्ट की सिविल, सैन्य ट्राफिक गतिविधियों एवं मौसम को देखते हुए इसका चुनाव किया गया है। सरकार ने नवंबर 2020 में इस विश्व स्तरीय अकेडमी की स्थापना के लिए क्लबों से बोलियां आमंत्रित की थीं। जिसमें खजुराहो का चयन किया गया है। यह खजुराहो और मप्र के लिए बड़ी सौगात होगी।

इस तरह चुना गया खजुराहो

भारत सरकार के नागरिक उड्डयन मंत्रालय के अधीन काम करने वाले भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण ने नवंबर 2020 में भारत में विश्व स्तरीय उड़ान प्रशिक्षण अकादमियां खोले जाने के लिए स्वतंत्र बोलियां आमंत्रित की थी। सरकार की इस निविदा पर भारत सहित दुनिया के जाने-माने अनेक क्लब जो प्रशिक्षण अकादमियां संचालित करते हैं उन्होंने बोलियों में हिस्सा लिया। सरकार ने इन विश्व स्तरीय उड़ान प्रशिक्षण अकादमियों के संचालन के लिए क्लबों को काफी छूट भी दी। इसके लिए क्लबों से हर साल 15 लाख रूपए किराया लिया जाएगा। इसके साथ ही इसे व्यवसाय के अनुकूल बनाने के लिए एयरपोर्ट रॉयल्टी को भी खत्म किया गया है। 31 मई 2021 को चयनित हुए बोलीदाताओं को अवार्ड लेटर जारी कर दिए गए हैं। एशिया पैसिफिक, जेट सर्व, रेड वर्ड, सम्वर्धन और स्काईनैक्स नामक क्लबों ने भारत के 4 राज्यों कर्नाटक, महाराष्ट्र, मप्र और असम में 5 हवाई अड्डों पर 8 अकेडमी संचालित करने की जिम्मेदारी ले ली है। इस प्रक्रिया में छतरपुर मप्र के खजुराहो एयरपोर्ट का भी चयन हुआ है।

सांसद वीडी शर्मा ने की नागरिक उड्डयन मंत्री से मुलाकात

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने कहा कि जिन हवाई अड्डों का चयन किया गया है उन स्थानों पर मौसम, सिविल एवं सैन्य ट्रॉफिक का ध्यान रखा गया है। दरअसल जब नागरिक उड्डयन मंत्रालय इन प्रशिक्षण अकादमियों के लिए बोलियां आमंत्रित कर रहा था इसी दौरान सांसद वीडी शर्मा ने नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी से दिल्ली में भेंट कर खजुराहो के विकास के लिए मांग पत्र सौंपा था। वीडी शर्मा चूंकि प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष हैं इसलिए मंत्रालय ने उनके मांग पत्र को गंभीरता से लिया और खजुराहो इस तरह की अकेडमी के लिए चयनित हो सका।

कलेक्टर ने कहा यह हमारे लिए गौरव की बात

कलेक्टर शीलेन्द्र सिंह ने कहा है कि उड़ान प्रशिक्षण अकादमी के लिए खजुराहो का चुना जाना गौरव की बात है। उन्होंने कहा कि मप्र में इस एयरपोर्ट का चुनाव होने से संपूर्ण बुन्देलखण्ड में फ्लाईंग ट्रेनिंग पाने के लिए लालायित विद्यार्थियों को बड़ा लाभ होगा। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड में इस सौगात के मिलने से यहां के युवाओं को आगे बढऩे का एक नया नजरिया मिलेगा। इस विश्व स्तरीय ट्रेनिंग अकेडमी के कारण खजुराहो में एयर ट्रॉफिक भी बढ़ेगा। युवाओं का रूझान पायलट बनने की दिशा में जागृत होगा।