छतरपुर, संजय अवस्थी। बेटियों को पढ़ाने के लिए सरकार के द्वारा कई अभियान चलाए जा रहे हैं। लेकिन आज भी ग्रामीण क्षेत्र में लोग बेटियों की कम उम्र में शादी कर देते हैं। जिससे की उन मासूम बेटियों के कई सपने अधूरे रह जाते है। और बेटियां फिर आगे पढ़ाई नहीं कर पाती हैं। ऐसा ही एक मामला छतरपुर (Chhatarpur) जिले के पिपट गांव में सामने आया है। जहां पर एक नाबालिक की परिवार के सदस्य जबरदस्ती शादी (wedding) कर रहे थे। वहीं लड़की को ये नामंजूर था। फिर क्या था नाबालिक बिना किसी को सूचना दिए घर से निकल गई। परिवार के सदस्यों ने तुरंत पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही थाना प्रभारी पिपट ने तत्परता दिखाते हुए लड़की को दस्तयाब कर परिजनों के हवाले कर दिया।

यह भी पढ़ें…भोपाल के टाइगर की इंदौर में हुई मौत, चिड़ियाघर में पसरा मातम

यह थी भागने की वजह
जानकारी के मुताबिक बिजावर क्षेत्र के पिपट थानांतर्गत ग्राम कस्बा में अपने ननिहाल में रह रही महाराजपुर की 17 वर्षीय लड़की की शादी उसके परिजनों ने कहीं तय कर दी थी। चूंकि लड़की को लड़का पसंद नहीं था और वह अभी शादी भी नहीं करना चाहती थी। पढ़ाई की इच्छा रखने वाली लड़की के ऊपर परिवार के सदस्य शादी का दबाव डाल रहे थे। इसलिए मंगलवार को नाबालिग लड़की पिपट के पास ही स्थित ग्राम पनागर में मौसी के यहां जाने की बात कहकर घर से निकल गई। जब देर शाम तक वह नहीं आई तो परिवार के सदस्य चिंतित हुए और तलाश में जुट गए। कहीं पता न मिलने पर पिपट थाना प्रभारी धर्मेन्द्र सिंह जोनवार को सूचना दी। मामले को गंभीरता से लेते हुए थाना प्रभारी ने पड़ताल शुरु कर दी और 24 घंटे में लड़की को खजुराहो से पकड़ लिया। पुलिस ने व्यवहार न्यायालय में लड़की के बयान करवाते हुए परिजनों को सौंप दिया।

यह भी पढ़ें…भोपाल के टाइगर की इंदौर में हुई मौत, चिड़ियाघर में पसरा मातम