सीएम शिवराज के निर्देश, स्मार्ट पुलिसिंग को प्रभावी बनायें, अपराधियों में खौफ पैदा करें

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि संयुक्त दलों के माध्यम से खनन माफिया, चिटफंड कंपनियों, मिलावट, नकली खाद्यान्न और नकली दूध उत्पादों के दोषियों पर सख्ती से कार्रवाई करें।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने आज सोमवार को प्रदेश के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (VC) के माध्यम से चर्चा की। उन्होंने पुलिस महानिरीक्षकों और पुलिस अधीक्षकों (VC Of IG – SP) को निर्देश दिए कि कानून-व्यवस्था को और अधिक बेहतर बनाया जाए। अपराधियों को किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाए। स्मार्ट पुलिसिंग (smart policing) की व्यवस्था को बेहतर और प्रभावी बनाएं।

अपराधों को प्रभावी ढंग से रोकें

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में अपराधों को प्रभावी ढंग से रोकने और कमी लाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि त्वरित कार्रवाही करें एवं अपराधियों में खौफ पैदा करें। उन्होंने उपलब्ध संसाधनों का बेहतर उपयोग करने के निर्देश दिए। संपत्ति संबंधी अपराधों का विश्लेषण कर प्रभावी कार्रवाही सुनिश्चित करें। मुख्यमंत्री ने जिलों के समग्र मूल्यांकन के आधार पर कमजोर प्रदर्शन वाले जिलों के पुलिस अधीक्षकों को अपराधों पर प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि न्यायपूर्ण कार्यवाही सुनिश्चित करें।

ये भी पढ़ें – दोस्ती को बना दिया मिसाल, आखिरी सांस तक नहीं छोड़ा हाथ

गुम बालक-बालिकाओं का पता लगाने अभियान के निर्देश  

मुख्यमंत्री ने गुम बालक-बालिकाओं की दस्तयाबी (पता लगाकर वापस लाना) के लिए अभियान चलाकर कार्यवाही करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि दस्यु गिरोह समाज के दुश्मन हैं जिन पर प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि डकैतों को किसी भी कीमत में पनपने नहीं दिया जाये।

ये भी पढ़ें – पुलिस विभाग में तबादले, देखिए लिस्ट

महिलाओं के खिलाफ अपराध बर्दाश्त नहीं

सीएम ने कहा कि प्रदेश में महिलाओं के विरुद्ध अपराध बर्दाश्त नहीं किये जायेंगे। महिलाओं पर अपराध होना शर्मनाक है। इन अपराधों का विश्लेषण कर प्रभावी कार्यवाही करें। असली हीरो का सम्मान करने का कार्य प्रदेश में महिला सुरक्षा, उनके विरुद्ध अपराधों को रोकने और जन-जागरूकता लाने के लिए प्रारंभ किया गया है। इसे जारी रखा जाए। उन्होंने विभिन्न जिलों से चयनित असली हीरो को बधाई दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि असली हीरो अपराधियों को पकड़वाने में पुलिस की मदद करते हैं।

ये भी पढ़ें – भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा के जिलाध्यक्ष के नामों की घोषणा, देखिए जारी सूची

मुख्यमंत्री ने कहा कि कमजोर वर्गों पर अत्याचार और अपराध दुर्भाग्यपूर्ण एवं शर्मनाक है। इन अपराधों पर तत्काल प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसे अपराधों के हॉटस्पाट चिन्हित कर अपराधियों पर कार्यवाही करें।

गंभीर अपराधों में सजा का प्रतिशत बढ़ाएँ

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कानून-व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कहा कि चिन्हित अपराध भी गंभीर अपराध की श्रेणी में आते हैं। ऐसे अपराधों में सजा का प्रतिशत बढ़ायें। उन्होंने कहा कि सूदखोरों पर तत्परता से कार्यवाही करें। साइबर अपराध एवं साइबर सुरक्षा की भविष्य की कार्य-योजना को शीघ्र अमल में लाकर कार्रवाही करें। राष्ट्रीय काउंटर ड्रोन नीति की तैयारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देशानुसार करें। सीसीटीवी प्रणाली के रख-रखाव, हार्डवेयर के मानकीकरण के लिए सर्वोत्तम उपायों की पहचान करें। विदेशियों के वीजा अवधि से अधिक रहने के मुद्दों पर कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि वैमनस्यता फैलाने वाले और समाज को तोड़ने वाले संगठनों की पहचान करें। अवांछित विदेशी फंडिंग प्राप्त कर रहे गैर सरकारी संगठनों को चिन्हित कर रोकने की कार्यवाही करें।

सीमावर्ती क्षेत्रों में प्रशासनिक व्यवस्था को सुचारु बनाएँ

सीएम शिवराज ने कहा कि सीमावर्ती क्षेत्रों में प्रशासनिक व्यवस्था को सुचारु बनाने के लिए कलेक्टर-एसपी के सतत संयुक्त भ्रमण हों। राष्ट्रीय स्तर पर गठित पुलिस टेक्नोलॉजी मिशन के तहत आवश्यक कार्यवाही करें। नक्सल विरोधी अभियानों में ड्रोन आधारित निगरानी और तकनीकी का उपयोग करें। ऐसे क्षेत्र में शासकीय योजनाओं का लाभ प्राथमिकता से पहुंचाएं और संवेदनशीलता के साथ व्यवहार करें, जिससे लोग असंतुष्ट न हों। इसके लिए अभियान के तौर पर कार्य करें।

नशामुक्ति, अवैध खनन, मिलावटखोरों के खिलाफ अभियान चलाएं 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि संयुक्त दलों के माध्यम से खनन माफिया पर प्रभावी कार्यवाही करें। अवैध रेत परिवहन एवं उत्खनन के प्रकरणों में कठोर कार्यवाही होनी चाहिए। किसी भी कीमत पर माफिया को नहीं छोड़ा जाए।अवैध शराब के आदतन माफिया पर कड़ी कार्यवाही करें। चिटफंड कंपनियों, मिलावट, नकली खाद्यान्न और नकली दूध  उत्पादों के दोषियों पर सख्ती से कार्यवाही करें। मिलावटी खाद्य पदार्थ बनाने वाली फैक्ट्रियों पर सख्त कार्यवाही करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्मैक और अफीम का नशा नौजवानों को तबाह कर उन्हें अपराध की दुनिया में धकेलता है। इसलिए नौजवान पीढ़ी को अपराध से बचाने के लिए प्राथमिकता से कार्यवाही करें। अपराधियों को नेस्तनाबूत करने के तेजी से प्रयास करें। स्मैक की जड़ों पर वार करें। गांजा, केमिकल ड्रग्स एवं डोंडा चूरा के नशे से बचाने के भी प्रयास करें। उन्होंने नशामुक्ति अभियान की कार्य-योजना बनाकर लागू करने के निर्देश दिए। इसके लिए समाज-सेवियों, जन-प्रतिनिधियों को जोड़कर प्रभावी एवं व्यापक अभियान चलायें। नशे के कारोबार में सहयोग करने वालों को नौकरी से बर्खास्त करने की कार्यवाही करें।