कोरोना ने बढ़ाई टेंशन, जेएएच ने सामान्य मरीजों की ओपीडी और भर्ती पर लगाई रोक

इमरजेंसी सेवाएं प्रत्येक विभाग के ओपीडी कक्ष में पूर्व ओपीडी समय के अनुसार चालू रहेंगी जो विभाग के कंसल्टेंट द्वारा संचालित की जाएँगी।   

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। कोरोना पॉजिटिव मरीजों (Corona Positive Patients) की बढ़ती संख्या के बाद जेएएच (JAH) यानि जयारोग्य अस्पताल समूहों के अस्पतालों में होने वाली सामान्य मरीजों की भर्ती अब नहीं हो सकेगी। जेएएच प्रबंधन ने आगामी आदेश तक ओपीडी और भर्ती बंद कर दी है। जीआर मेडिकल कॉलेज (GR Medical College) के डीन ने इस आशय के आदेश शनिवार को जारी कर दिये।

ग्वालियर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का पहला शतक 31 मार्च को लगा इस दिन पॉजिटिव मरीजों की संख्या 120 थी जो अब बढ़कर शुक्रवार 17 अप्रैल को 1024 पहुँच गई। लगातार बढ़ते आंकड़ों ने जिला प्रशासन को चिंता में डाल दिया है। ये बात अलग है कि संभाग आयुक्त, कलेक्टर सहित कोविड प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर स्थितियों को नियंत्रण में बता रहे हैं।  इन सबका दावा है कि ग्वालियर में व्यवस्थाएं पर्याप्त हैं लेकिन प्रशासन हालात को देखते हुए लगातार  व्यवस्थाएं जुटाने में लगा है।

ये भी पढ़े – मप्र में 30 अप्रैल तक रहेगी सख्ती, सीएम शिवराज सिंह बोले- कोई भी बेवजह बाहर ना निकलें

इसी व्यवस्था के तहत अब जयारोग्य अस्पताल समूह जेएएच के अस्पतालों में भी कोरोना पॉजिटिव मरीजों को भर्ती किया जाने लगा है। जानकारी के मुताबिक जेएएच  अस्पताल प्रशासन ने टीबी अस्पताल और बर्न यूनिट के सभी बेड कोरोना मरीजों के लिए उपलब्ध करा दिए हैं अब समूह के दूसरे अस्पतालों में भी मरीजों केलिए बेड सुरक्षित किये जा रहे हैं।  हालाँकि अभी किसी ने खुलकर इसे स्वीकार नहीं किया है लेकिन शनिवार को जो आदेश जीआर मेडिकल कॉलेज के डीन की तरफ से आया वो यही इशारा कर रहा है।

ये भी पढ़े – शिवराज के मंत्री की जनता, नेताओं से अपील अफवाह ना फैलाएं, सकारात्मक वातावरण बनाएं

जीआर मेडिकल कॉलेज के डीन के हस्ताक्षर से शनिवार को जारी आदेश में कहा गया है कि कोरोना वैश्विक महामारी को देखते हुए संभाग एवं अध्यक्ष स्वशासी समिति जीआर मेडिकल कॉलेज द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान दिए गए निर्देशों के बाद आगामी आदेश तक जयारोग्य अस्पताल समूह जेएएच ग्वालियर की रूटीन ओपीडी एवं भर्ती बंद की जाती है इमरजेंसी सेवाएं प्रत्येक विभाग के ओपीडी कक्ष में पूर्व ओपीडी समय के अनुसार चालू रहेंगी जो विभाग के कंसल्टेंट द्वारा संचालित की जाएँगी।

कोरोना ने बढ़ाई टेंशन, जेएएच ने सामान्य मरीजों की ओपीडी और भर्ती पर लगाई रोक