Dabra News: पैसों को लेकर हुआ विवाद, दो पक्षों में हुई मारपीट, एक घायल, जानें पूरा मामला

Dabra News: डबरा सिटी थाने के अंतर्गत कटारिया चौराहा पर दो पक्षों में पैसे के लेनदेन के चलते जमकर विवाद हुआ। दो पक्षों में जमकर मारपीट हुई। एक पक्ष के सिर पर गहरी चोट आई और दूसरे पक्ष को मामूली चोट आईं है। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और मामले को शांत करवाया। दोनों पक्षों के लोगों को डबरा सिविल हॉस्पिटल उपचार के लिए ले जाया गया।

जांच में जुटी पुलिस

झगड़े के संबंध में डबरा सिटी थाना प्रभारी केपी यादव ने बताया कि कटारिया चौराहे के पास पशु अस्पताल के सामने खाद बीज भंडार की दुकान है। यह विवाद पैसे के लेनदेन के कारण हुआ है, जिसमें दोनों पक्षों में मारपीट हुई है। झगड़े की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और मामले को शांत कराया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। जांच में जो भी तथ्य सामने आएंगे उनके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

दोनों पक्ष ने कही ये बात

एक पक्ष के व्यक्ति दीपक शर्मा ने बताया वह कटारिया चौराहा के पास स्थित अपनी दुकान पर अपने पिताजी के साथ बैठा हुआ था। तभी वहां दीपक कटारिया का आना हुआ और उसने पैसे के लेनदेन के चलते अभद्र व्यवहार किया। जब उसने कमल कटारिया को गाली देने से रोका तो उन्होंने उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। तभी मुकेश परिहार अपने साथियों के साथ मारपीट करने पहुंचा। उन्होंने बताया कि अमल कटारिया ने उनके सर पर धारदार हथियार से वार किया, जिससे उनके सर में गहरी चोट आई । डबरा सिविल हॉस्पिटल उपचार के लिए लाया गया।


दूसरे पक्ष की तरफ से मुकेश परिहार ने बताया कि डॉक्टर कटारिया के दीपक शर्मा पर ₹100000 आ रहे थे। जिसको लेकर वह पैसे मांगने के लिए उसकी दुकान पर गए थे। तब उन्होंने देखा कि दीपक शर्मा कमल कटारिया के पीछे कट्टा लेकर पीछे पड़ रहा है। जिसके बाद उन्होनें रोकने की कोशिश की और इसी बात के चलते दोनों में हाथापाई हो गई। जिसमें उनके गले पर नाखून लग गए और उन्हें मामूली चोटें भी आई है।

डॉक्टर ने कहा

डबरा सिविल हॉस्पिटल में मौजूद डॉक्टर ने बताया पुलिस द्वारा एक मरीज को लाया गया। जिसके सर पर किसी धारदार हथियार से वार किया गया था जैसे उसके सर में गंभीर चोट आई और शरीर पर भी हल्की चोटें आई हैं। जिसके कारण उसके सर में टांके लगाए गए हैं।
डबरा से अरुण रजक की रिपोर्ट

 


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News