डबरा, सलिल श्रीवास्तव। डबरा (Dabra) में एक नवविवाहिता को उसके पति द्वारा एसिड (acid) पिलाकर मारने का मामला सामने आया है। इस मामले में अब दिल्ली महिला आयोग की चेयरपर्सन स्वाति मालीवाल (Swati maliwal) ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) से इंसाफ की गुहार लगाई है और पुलिस पर लापरवाही बरतने और आरोपी को गिरफ्तार न करने का आरोप भी लगाया है।

यह भी पढ़ें… Indore :बकरीद के पहले दो बकरों को चुराने की घटना आई सामने, इस तरह चोरों ने दिया घटना को अंजाम, देखें VIDEO !

घटना डबरा रामगढ़ मोहल्ले की है जहां बीती 28 तारीख को एक महिला को उसके पति वीरेंद्र ने जान से मारने के मकसद से एसिड पिला दिया। जिससे महिला गंभीर रूप से घायल हो गई। उसे तत्काल ग्वालियर (Gwalior) और उसके बाद दिल्ली (Delhi) ले जाया गया। तब से लेकर उसका अब तक इलाज जारी है। घटना के 5 दिन बाद पुलिस ने महिला की मां की शिकायत पर पति और दोनों अन्य लोगों पर दहेज एक्ट का मामला दर्ज कर लिया था पर इस मामले में ना तो कोई बड़ी धारा के तहत मामला दर्ज किया और ना आरोपियों को गिरफ्तार किया।

यह किया ट्वीट
इस पूरे घटनाक्रम में नया मोड़ तब आया जब दिल्ली महिला आयोग की चेयर पर्सन स्वाति मालीवाल ने इस मामले में प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को ट्विट करते हुए मामले में लापरवाही बरतने का आरोप पुलिस पर लगाया। ट्वीट में स्वाति ने लिखा कि “ग्वालियर की लड़की को उसके पति ने एसिड पिलाया जिससे उसके अंग जल गए। MP में FIR हल्की हुई & अब तक कोई अरेस्ट नही हुआ। लड़की का इलाज हम दिल्ली में करवा रहे है & उसके बयान भी SDM के सामने करवाए है। ये भयानक फ़ोटो इस आस से डाली है की @ChouhanShivraj जी अपराधियों को अरेस्ट करवाएँगे!”

दिल्ली महिला आयोग की चेयरपर्सन स्वाति मालीवाल ने एमपी पुलिस पर लगाए लापरवाही के आरोप, यह है मामला

स्वाति मालीवाल के ट्वीट के बाद ही मामला गरमा गया और पुलिस अधिकारी आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास में जुट गए। इस संबंध में सिटी थाना प्रभारी विनायक शुक्ला से बात की उनका कहना था कि इस मामले में पहले पीड़िता की मां की शिकायत पर दहेज एक्ट का मामला दर्ज किया गया था। बाद में उसका मजिस्ट्रियल बयान दिल्ली में पुलिस अधिकारियों को भेजकर करवाए गए। जिसमें उसने अपने पती और भाभी पर जबरदस्ती एसिड पिलाने का आरोप लगाया है। बाद में मामले में धाराओं का इजाफा किया जा रहा है साथ ही आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

इस पूरे घटनाक्रम में दो पहलू देखने को मिले एक और जहां पुलिस पर लापरवाही बरतने का आरोप है तो पुलिस ने अपनी सफाई में कुछ अलग ही तर्क दिया पुलिस का कहना है कि पीड़िता के पिता ने साफ तौर पर मना किया कि उसके पति को गिरफ्तार नहीं किया जाए। क्योंकि वह महिला का इलाज करा रहा है इस पूरे घटनाक्रम से इतना तो तय है कि अब मामला गर्मा चुका है और शीघ्र ही आरोपियों की गिरफ्तारी भी हो जाएगी।