दमोह : सरकार ने लॉकडाउन से रखा मुक्त तो लोगों ने लगाया जनता कर्फ्यू

Lockdown

दमोह, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में 60 घंटे का लॉकडाउन (lockdown) खत्म हो चुका है लेकिन कोरोना (corona) का कहर जारी है। लेकिन 60 घंटे के लॉकडाउन में दमोह (damoh) खुला रहा। वहां किसी तरह का कोई बंद नहीं था। दमोह उपचुनाव को लेकर फिलहाल वहां राजनीतिक सरगर्मी जारी है। लेकिन इसी बीच खबर है कि दमोह जिले के हिनोता कस्बे में लोगों ने स्वेच्छा से लॉकडाउन चुना और दो दिन के लिये शहर बंद रखा।

ये भी देखिये – चरम पर पहुंच रही कोरोना महामारी, पांच राज्यों में 70% से अधिक एक्टिव मामले

प्रदेश के कोरोना कर्फ्यू के दौरान भी दमोह फ्री ज़ोन था। लेकिन कोरोना के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर अब जिले के हटा ब्लॉक के हिनोता कस्बे में स्थानीय लोगों ने खुद जनता लॉकडाउन का फैसला लिया है। स्थनीय लोगों ने यहां स्वेच्छा से शनिवार और रविवार को लॉकडाउन लगाया। कहा जा रहा है कि स्थिति को देखते हुए इसे आगे भी जारी रखा जा सकता है। बता दें कि सीएम शिवराज सिंह चौहान कह चुके हैं कि दमोह में चुनाव को देखते हुए वहां का फैसला निर्वाचन आयोग के हाथ में हैं। इसीलिए 60 घंटे के कोरोना कर्फ्यू से भी दमोह को मुक्त रखा गया था। लेकिन हिनोता कस्बे में लोगों ने स्वेच्छा से दो दिन का लॉकडाउन रखा। इस दौरान बाजार पूरी तरह बंद रहे और लोग अपने घरों में ही रहें। सड़कों पर सन्नाटा छाया रहा और लोगों ने इस जनता लॉकडाउन में पूरी तरह अनुशासन का परिचय दिया।