तहसील के बाबू 1500 रुपये की रिश्वत लेते चढ़े लोकायुक्त के हत्थे

बाबू  एक किसान से जमीन के बैनामा आदेश की काफी देने के एवज में 1500 रुपये की रिश्वत ले रहे थे

दमोह, डेस्क रिपोर्ट। दमोह जिले की जबेरा तहसील अंतर्गत उप तहसील बनवार में पदस्थ लिपिक उस वक़्त लोकायुक्त टीम के हत्थे चढ़ गया जब बाबू  एक किसान से जमीन के बैनामा आदेश की काफी देने के एवज में 1500 रुपये की रिश्वत ले रहे थे, रिश्वत लेते हुए लोकायुक्त सागर की टीम द्वारा शुक्रवार की दोपहर रंगे हाथों गिरफ्तार किया।

यह भी पढ़े.. चम्बल संभाग में 14 महीने से नहीं हैं संभाग आयुक्त ,आमजनता हो रही परेशान

ऐसा है मामला 

बताया जा रहा है कि दमोह जिले की जबेरा तहसील के उप तहसील बनवार में जो कि प्रत्येक सोमवार एवं शुक्रवार को लगाई जाती है। शुक्रवार को इस तहसील में लोकायुक्त ने दबिश दी, दरअसल सागर की लोकायुक्त टीम द्वारा किसान सोनू सेन से लिपिक विनोद दुबे को 1500 रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया गया। आवेदक ग्राम रोड तहसील जबेरा निवासी सोनू पुत्र कन्हैया लाल सेन ने लोकायुक्त में शिकायत की थी की उसका जमीन का काम है जिसके एवज मे लिपिक रिश्वत मांग रहा है, सोनू ने जमीन का बैनामा आदेश पास कराया था। उसकी कापी प्राप्त करने के लिए उप तहसील कार्यालय में पदस्थ लिपिक विनोद दुबे 49 वर्ष निवासी दमोह द्वारा 15 सौ रुपये की मांग की गई थी। लोकायुक्त मे शिकायत के बाद टीम ने रणनीति बनाई और फिर सोनू को रुपये देकर तहसीली भेजा, इस राशि को लेकर शुक्रवार को सोनू जब लिपिक को देने लगा तो  लोकायुक्त सागर की टीम ने लिपिक को रंगे हाथों पकड़ लिया। इस कार्रवाई में सागर लोकायुक्त में पदस्थ निरीक्षक रोशनी जैन, अभिषेक वर्मा आदि शामिल रहे। फिलहाल कार्रवाई जारी है।