Audio Viral : कलेक्टर बोले, पानी में डूब रहे डॉक्टर तो आपको क्या मतलब!

ऑडियो में संजय कुमार से दुबे बेहद विनम्रता के साथ पूरी समस्या का उल्लेख करते हैं लेकिन कलेक्टर साहब का जवाब आता है "यह क्या बकवास कर रहे हो।

दतिया, सत्येन्द्र रावत। जनसमस्याओं के प्रति ब्यूरोक्रेट्स (bureaucrats) की असंवेदनशीलता का एक बड़ा उदाहरण सामने आया है। दतिया(datia)   जिले के कलेक्टर का ऑडियो वायरल (audio viral) हो रहा है जिसमें वह शिकायतकर्ता के साथ बेहद बदतमीजी से बात करते नजर आ रहे हैं।

दतिया जिले की बङौनी तहसील में स्थित शासकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में बारिश के चलते दो-दो फुट पानी भर गया। इसके चलते वहां स्थित स्टाफ व मरीजों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। इसके साथ ही कैंपस में स्थित स्टाफ के शासकीय आवासों में भी काफी मात्रा में पानी भर गया जिसके चलते वहां पर विषैले कीड़ों के आने की भी संभावना पैदा हो गई। इस बात की जानकारी जब स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ता चंद्र कुमार दुबे को लगी तो उन्होंने अपने स्तर पर प्रयास किए लेकिन जब समस्या का समाधान नहीं हुआ तो उन्होंने सीधे कलेक्टर संजय कुमार को फोन लगा दिया।

Read More: MP Politics: नरोत्तम से मिलने पहुंचे वीडी शर्मा, क्या है इन सियासी मुलाकातों के मायने!

ऑडियो में संजय कुमार से दुबे बेहद विनम्रता के साथ पूरी समस्या का उल्लेख करते हैं लेकिन कलेक्टर साहब का जवाब आता है “यह क्या बकवास कर रहे हो। डॉ पानी में डूब रहे तो आपको क्या मतलब! आप आरटीआई कार्यकर्ता हो यह काम का आपका है! जब दुबे ने कहा कि मैं सामाजिक कार्यकर्ता भी हूं तो कलेक्टर ने कहा कि “तो क्या हुआ! तुम्हारा इस समस्या से क्या संबंध! क्या ज्यादा पढ़ लिख लिया है!”

इस पर चंद्र कुमार दुबे ने एक बार फिर विनम्रता से कहा कि सर में क्या अपने क्षेत्र की समस्या की शिकायत भी आपसे नहीं कर सकता तो कलेक्टर ने कह दिया “नहीं।” जहां एक और मुख्यमंत्री जनता से संवेदनशीलता के साथ व्यवहार करने की हिदायत लगातार अधिकारियों को देते रहते हैं, कलेक्टर का यह असंवेदनशील व्यवहार लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है। जन समस्या के इतने महत्वपूर्ण विषय पर इतने अगंभीर जवाब की उम्मीद शायद किसी कलेक्टर से नहीं की जा सकती।

NOTE: Mpbreaking News इस वायरल ऑडियो की पुष्टि नही करता