दतिया में अधिकारियों एवं काजी की जनता से अपील, कहा गाइडलाइन का पालन कर ईद घर में मनायें

दतिया में अधिकारियों और शहर के काजी ने घर में ईद मानाने की लोगों से अपील की।

दतिया, सत्येन्द्र रावत। दतिया (Datia) में गुरूवार को अपर कलेक्टर एके चाॅदिल एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमल मौर्य, शहर काजी मुफ्ती मोहम्मद अख्तर कासमी की उपस्थिति में मुस्लिम समाज की बैठक ईदगाह पर सम्पन्न हुई। जिसमे यह जानकारी दी गई कि 14 मई को ईद उल-फ़ित्र (Eid-ul-Fitr) का पर्व शांति सद्भाव, भाईचारे एवं कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए घरों में रहकर मनाये। जबकि मस्जिदो एवं ईदगाह में पांच से अधिक लोग नमाज नहीं पढ़ेंगे।

यह भी पढ़ें…प्यासे बंदर ने जीभर पिया पानी फिर बंद कर दिया नल, दी अनमोल सीख, देखिये वीडियो

अपर कलेक्टर एके चाॅदिल ने इस दौरान बताया कि कलेक्टर संजय कुमार एवं पुलिस अधीक्षक अमन सिंह राठौर के निर्देशों एवं कोरोना गाइडलाइन (Corona Guideline) के तहत कोरोना संक्रमण (Corona infection) को देखते हुए 14 मई को ईद उल-फ़ित्र पर्व पर मस्जिदों में नमाज के दौरान पांच लोग ही नमाज पढ़ सकेंगे। इस से अधिक लोगों को नमाज पढ़ने की अनुमति नहीं रहेगी। इस दौरान सोशल डिस्टेसिंग के साथ कोरोना प्रोटोकाॅल का पालन किया जायेगा। उन्होंने कहा कि ईद पर घरों में रहकर ही नमाज पढ़े इस दौरान सोशल डिस्टेसिंग के साथ मास्क उपयोग कर आपस में एक दूसरे से गले नहीं मिलें।अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमल मौर्य ने कहा कि यहां आने का मुख्य मकसद ईद पर अता की जाने वाली नमाज के दौरान कोरोना गाइडलाइन की जानकारी देने के साथ पालन कराना है। मस्जिदों एवं ईदगाह में पांच लोग ही नमाज अता कर सकेंगे।

शहर काजी मुफ्ती मोहम्मद अख्तर कासमी ने इस मौके पर मुस्लिम भाईयों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना के संक्रमण को देखते हुए ईद उल फितर पर नमाज अपने-अपने घरों में ही अता करें। मस्जिदों में पांच लोग ही नमाज पढ़ेंगे। इस दौरान सोशल डिस्टेसिंग एवं जिला प्रशासन द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करते हुए आपस में गले नहीं मिलेंगे।

यह भी पढ़ें…रतलाम में 25 मई तक बढ़ाया गया लॉकडाउन, कोरोना प्रभारी मंत्री डॉक्टर मोहन यादव ने लिया निर्णय