हद है, कोविड केयर सेंटर मे बिना मास्क के पहुंची मंत्री !

मंत्री उषा ठाकुर बिना मास्क के कोविड सेंटर का शुभारंभ करने पहुंची

देवास, अमिताभ शुक्ला। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के देवास (Dewas) में भी बढ़ते कोरना संक्रमित मरीजों की के इलाज के लिए औद्योगिक क्षेत्र में कोविड केयर सेंटर बनाया गया है, जिसकी ओपनिंग में प्रदेश की पर्यटन संस्कृति एवं अध्यात्म विभाग की मंत्री एवं जिले की प्रभारी मंत्री उषा ठाकुर (Minister Usha Thakur) भी पहुंची, वही सेंटर की व्यवस्थाओं से ज्यादा सभी का इस तरफ ध्यान आकर्षित रहा कि मंत्री बिना मास्क के सेंटर का शुभारंभ करने पहुंची । वही इस अवसर पर सांसद महेंद्रसिंह सोलंकी, देवास विधायक गायत्रीराजे पवार, कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला, नगर निगम आयुक्त विशाल सिंह चौहान, एसडीएम प्रदीप सोनी, सीएमएचओ डॉ. एमपी शर्मा सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं अधिकारीगण उपस्थित रहे लेकिन किसी ने भी मंत्री को टोकने की और मास्क पहनने को कहने की हिम्मत नहीं की और सभी ने इसे अनदेखा कर दिया।

यह भी पढ़ें…बिहार में गंगा किनारे लगा शवों का ढेर, जानिए क्या है पूरा मामला

दरअसल आज शहर के औद्योगिक क्षेत्र में 247 बेड के रेड क्रॉस कोविड केयर सेंटर का उषा ठाकुर ने फीता काटकर शुभारंभ किया, फीता काटते समय तो मंत्री मैडम ने फोटो और नाम के लिए मास्क लगा लिया लेकिन उसके बाद पूरे समय उनका मास्क चेहरे से गायब रहा। इस दौरान मंत्री ने पूरे सेंटर का बिना मास्क के ही निरिक्षण किया और ऑक्सीजन प्लांट की यूनिट को देखा तथा उसकी कार्य प्रणाली की जानकारी ली तथा आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। आप भी देखिये किस तरह बिना मास्क के लापरवाही के साथ मंत्री घूम-घूम कोविड केयर सेंटर का जायजा ले रही है।

इस दौरान देवास विधायक गायत्रीराजे पवार ने बताया यहां पर 247 बेड को कोविड केयर सेंटर का शुभारंभ किया गया है, जिसमें 100 बेड ऑक्सीजन युक्त तथा शेष सामान्य बेड वाले हैं। यहां पर कोविड-19 के मरीजों को अस्पताल जैसा ही इलाज होगा। उन्होंने कहा कि मरीजों के भोजन पानी की व्यवस्था सेवा भारती की टोली द्वारा की जाएगी। इस कोविड केयर सेंटर को कोरोना के बढ़ते मरीजों तैयार किया गया है, जहां पर ऑक्सीजन युक्त बेड रहेंगे तथा सामान्य बेड भी रहेंगे। मरीजों के भोजन की व्यवस्था भी रहेगी। इस कोविड केयर सेंटर के शुरू होने जाने से कोविड के मरीजों का दवाब कम हो जाएगा। जो मरीज अमलतास एवं अन्य अस्पताल में जा रहे थे, अब उन्हें वहां जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। वे यहीं पर एडमिट होकर इलाज करा सकेंगे। वही कलेक्टर चन्द्रमौली शुक्ला ने बताया कि कोविड-19 संक्रमण को देखते हुए देवास के औद्योगिक क्षेत्र में रेडक्रास सोसायटी देवास, नगर निगम देवास, जिला प्रशासन एवं इप्का कंपनी के माध्यम से लगभग 250 बेड का कोविड केयर सेंटर बनाया गया है। इस कोविड केयर सेंटर में इप्का कंपनी द्वारा ऑक्सीजन जनरेंटर की व्यवस्था की गई है। कंपनी के द्वारा इसे एयर कूल्ड भी किया गया है। उन्होंने बताया अगल-अलग केबिन बनाये गए हैं तथा जहां पर मरीजों को रखा जाएगा। यहां पर कंपनी द्वारा जो ऑक्सीजन पाइंट दिया गया है जिसमें 100 बेड ऑक्सीजन युक्त है।

इस पूरे मामले में यह देखने वाली बात है कि विधायक हो या कलेक्टर सभी ने कोविड केयर सेंटर के बारे में तो सारी जानकारी दे दी पर वही मंत्री की इस लापरवाही को पूरी तरह से नज़रअंदाज कर दिया।