देवास, अमिताभ शुक्ला। देवास (dewas) जिले के नेमावर (Nemawar) में जघन्य हत्याकांड को अंजाम दिया गया था। जिसमें 5 लोगों की हत्या कर उन्हें खेत में दफना दिया गया था। अब मामले के खुलासा होने के बाद सरगर्मी बढ़ गई है। और सड़कों पर उतर आये है। वहीं अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा देने के लिए मांग कर रहे है। अब इस मामले में भीम आर्मी (Bhim Army) भी मैदान में उतर गई है। और पीड़ित परिवार की आर्थिक सहायता, CBI जांच और आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग की है।

प्रदर्शन कर की नारेबाजी
भीम आर्मी द्वारा देवास के सयाजी द्वार पर जमकर प्रदर्शन किया गया और इस दौरान मुख्य मार्ग एबी रोड पर चक्का जाम भी किया गया। इसके पहले मण्डूक पुष्कर तालाब के बाहर स्थित धरना स्थल पर धरना भी भीम आर्मी के कार्यकर्ताओ ने दिया, साथ ही जमकर नारेबाजी भी की। इस मामले में सीएसपी विवेकसिंह चौहान का कहना है कि हिमानी द्वारा चक्का जाम भी किया गया और नारेबाजी भी की गई। जिसके बाद उन्हें समझाइश दी गई। वहीं SDM को ज्ञापन देने के बाद कार्यकर्ता रोड से हटे और उन्होंने अपना प्रदर्शन खत्म कर  ज्ञापन सौंपा है जो वरिष्ठ अधिकारियों तक पहुंचाया जाएगा।

इस मामले पर धरने पर बैठी भीम आर्मी उपाध्यक्ष चंचल परिहार ने बताय कि नेमावर में जो हत्या कांड हुआ है उसी के चलते हम सब यहां धरने पर बैठे हैं। परिवार द्वारा पुलिस को सूचना दी गई थी उसके बाद भी 45 दिन तक पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। जो एक लंबा समय था। 45 दिन बाद एक खेत में 10 फीट गड्ढे के नीचे उन पांच लोगों के शव मिले हैं। इस घटना को दबाने की काफी कोशिश की गई है। जबकि परिवार पहले से ही सतर्क था। और उन्होंने आरोपियों का नाम तक बताया था उसके बावजूद भी इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की गई। इस पूरे मामले में हम सब सीबीआई जांच चाहते हैं। साथ ही जो दोषी है उन पर सख्त से सख्त कार्रवाई होना चाहिए। वहीं मृतकों के परिवार के सदस्यों को सरकारी नौकरी के साथ 5 करोड़ की सहायता राशि प्रदान की जाए। क्योंकि दलितों पर अत्याचार बढ़ते ही जा रहे हैं। दलितों का लगातार शोषण हो रहा है। वहीं अगर यह मांगे पूरी नहीं होती है तो हम सड़कों पर आएंगे।

कांग्रेस के नेता प्रदीप चौधरी भी धरनास्थल पर पहुंचे
इधर इस मामले में प्रदेश कांग्रेस महामंत्री प्रदीप चौधरी का कहना है कि यह मानवता की हत्या है। नेमावर में जब हत्याकांड हुआ तो सभी को जानकारी थी कि आरोपी कौन है। बावजूद इसके पुलिस शहर के बाहर जांच करती हैं। इस मामले में कई बड़े लोग शामिल है । और पुलिस के ऊपर भी राजनीतिक दबाव है। इस हत्याकांड से मध्य प्रदेश शर्मसार हुआ है। इस मामले में सीबीआई जांच होनी चाहिए और दोषियों को फांसी की सजा मिलनी चाहिए।

बहरहाल अब देखना होगा कि इस जघन्य हत्याकांड पर आरोपियों को क्या सजा मिलती है साथ ही परिवार वालों के लिए जो मांग की गई है वो पूरी होती है या नहीं। बतादें कि इस मामले में पुलिस ने अभी 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। और उनसे पूछताछ जारी है।

 

https://vimeo.com/569817810