MP News: किसने कहा- जब पैसे नहीं थे तो लॉक नहीं करना था कलेक्टर, पढ़े पूरी खबर

जिसमें लिखा था कि "जब पैसे नहीं थे तो लॉक नहीं करना था कलेक्टर"।

कलेक्टर और चोर

देवास, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के देवास जिले (Dewas) में एक अजब मामला सामने आया है। यहां एक सरकारी अधिकारी (IAS Officer) के घर में चोर करने घुसे चोर को कुछ नहीं मिला तो उसने एक नोट छोड़ दिया, जिसमें लिखा था “जब पैसे नहीं थे तो लॉक नहीं करना था कलेक्टर”…अब यह लेटर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल (Letter Viral) हो रहा है।

यह भी पढ़े.. कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी, सैलरी में आएगा 22500 का उछाल, समझें कैलकुलेशन

दरअसल, 15 दिनों पहले डिप्टी कलेक्टर त्रिलोचन सिंह गौड़ (Trilochan Singh Gaur) को खातेगांव का एसडीएम नियुक्त किया गया था। डिप्टी कलेक्टर का सरकारी आवास सांसद निवास के बिल्कुल पास है। पिछले 15 दिनों से आवास में ताला लगा हुआ था, इसी दौरान उसमें चोरी की वारदात हो गई। शनिवार को जब एसडीएम (SDM) आवास में लौटे तो उन्होंने ताला टूटा देखा। पुलिस को सूचना दी गई।

यह भी पढ़े.. Indian Railways : त्यौहारों पर रेलवे का तोहफा, कई स्पेशल ट्रेनें शुरु, देखें लिस्ट और रूट

इसी दौरान कुर्सी पर उन्हीं की डायरी और पेन का उपयोग कर एक पन्ना मिला, जिसमें लिखा था कि “जब पैसे नहीं थे तो लॉक नहीं करना था कलेक्टर”।संभवत: चोर को उम्मीद थी कि सरकारी अधिकारी के आवास में उसे जमकर नगदी और ज्वैलरी मिलेगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ जिससे  वह बौखला गया और नाराज होकर उसने पत्र लिख डाला। कोतवाली पुलिस ने एसडीएम की रिपोर्ट पर 30 हजार नगद, एक अंगूठी,चांदी की पायल और सिक्के चोरी होने की रिपोर्ट दर्ज की है।

कलेक्टर