लोकायुक्त

धार, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में एक पटवारी (patwari) को 50 हजार की रिश्वत (bribe) लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया है। दरअसल विशेष पुलिस स्थापना लोकायुक्त कार्यालय द्वारा यह कार्रवाई प्रदेश के धार (dhar) जिले में की गई है। वही मामले में पटवारी को गिरफ्तार (arrest) कर लिया गया है जबकि लोकायुक्त (lokayukt) की टीम आगामी कार्रवाई कर रही है।

दरअसल मामला प्रदेश के धार जिले का है। जहां लोकायुक्त कार्यालय इंदौर की टीम ने राजोद के एक पटवारी रफीक खान को 50,000 की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा है। जानकारी के मुताबिक 16 मार्च 2021 को जमीन नामांतरण के लिए राजोद तहसील निवासी प्रकाश द्वारा आवेदन किया गया था। आवेदक प्रकाश के पिता की मृत्यु होने के बाद पिता के नाम की भूमि को आवेदक की मां और आवेदक सहित पांच भाइयों के नाम नामांतरण करना था। इसके अलावा तहसीलदार से स्वीकृत करवाने और राजस्व रिकॉर्ड में दर्ज कराने के एवज में पटवारी द्वारा 4 लाख रुपए की रिश्वत की मांग की गई थी।

Read More: फसल बीमा के मुआवजे को लेकर परेशान किसान, एक दूसरे को दोष दे रहे बैंक और सरकार

इसके बाद आवेदक ने इस मामले की शिकायत लोकायुक्त कार्यालय इंदौर में की। वहीं आवेदक की शिकायत के बाद पटवारी को ट्रैप करने के लिए प्लान तैयार किया गया। जिसके बाद आवेदक को 50000 रिश्वत लेकर पटवारी के पास भेजा गया। वही लोकायुक्त टीम ने कार्रवाई करते हुए पटवारी को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है।

वही पटवारी पर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 2018 की धारा 7 के अंतर्गत कार्रवाई की गई है। वहीं इस कार्य में लोकायुक्त डीएसपी आनंद यादव, निरीक्षक सुनील उईके, आरक्षक प्रमोद यादव, चंद्र मोहन बिष्ट, प्रकाश पाराशर और आशीष नायडू शामिल है।