पूर्व मंत्री उमंग सिंघार के खिलाफ एफआईआर, गरमाई सियासत

उमंग सिंघार

धार| मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व वन मंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता उमंग सिंघार (Umang Singhar) के खिलाफ धार जिले (Dhar District) के बदनावर में धारा 188 और 51 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है| पूर्व मंत्री के खिलाफ एफआईआर से मध्य प्रदेश की सियासत गरमा गई है| सिंघार ने ट्वीट कर कहा मैं किसान एवं मजदूरों की परेशानी को जानने पहुंचा और भाजपा नेताओं ने मुझ पर केस दर्ज करवा दिया| उन्होंने कहा मैं बदनावर के परेशान किसान और मजदूरों के लिए गिरफ्तारी देने जा रहा हूं|

दरअसल, उमंग सिंघार पर बदनावर में रैली कर भीड़ जुटाने का आरोप लगा है| धार के एडिशनल एसपी देवेंद्र पाटीदार ने सिंघार के खिलाफ केस दर्ज किए जाने की जानकारी दी है| उन्होंने बताया कि प्रदेश के पूर्व मंत्री ने धार जिले के बदनावर इलाके में बीते दिनों एक रैली में भाग लिया था| लॉकडाउन के बीच भीड़ जुटाने की मनाही के बावजूद इस रैली का आयोजन किया गया. इसको लेकर पूर्व मंत्री के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है| उनके खिलाफ धारा 188 और 51 के तहत मामला दर्ज किया गया है|

गिरफ्तारी देने पहुंचे
पूर्व मंत्री उमंग सिंघार ने रविवार को ट्वीट कर कहा ‘धार जिले के बदनावर किसान एवं मजदूरों की परेशानी को जानने पहुंचा और भाजपा नेताओं ने मुझ पर केस दर्ज करवा दिया मैं 3:30 बजे बदनावर के परेशान किसान और मजदूरों के लिए गिरफ्तारी देने जा रहा हूं,याद रहे यही भाजपा सरकार ने 6 जून को मंदसौर में किसानों पर गोली चलवाई थी कल 6 जून थी’ |

बता दें कि बदनावर से विधायक राजवर्धन सिंह दत्तीगांव कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हो चुके ऐसे में यहां पर आगामी विधानसभा उपचुनाव होना है| इससे पहले ही पूर्व मंत्री पर एफआईआर से सियासत गरमा गई है|