पीएम मोदी पर टिप्पणी को लेकर भड़की भाजपा, राहुल गांधी का पुतला फूंका, दी कड़ी चेतावनी

अभय चौधरी ने चेतावनी देते हुए कहा कि राहुल गांधी अपनी इस तरह की बातों को बंद करें, कहीं ऐसा न हो कि जनता उन्हें किसी दूसरी भाषा में जवाब दे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस आज समाप्ति की तरफ है इसलिए कांग्रेस और उसके नेता बौखला रहे हैं लेकिन उन्हें पीएम मोदी जैसे विश्व में सम्मानित नेता के बारे में अनर्गल बोलना बंद करना चाहिए।   

Atul Saxena
Published on -
Gwalior News

Gwalior News : न्याय यात्रा पर निकले कांग्रेस सांसद राहुल गांधी अपने बयानों को लेकर हमेशा विवादों में रहते हैं, उनके निशाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा और आरएसएस रहती है। राहुल गांधी पिछले लम्बे अरसे से पीएम मोदी पर व्यक्तिगत टिप्पणी कर रहे हैं, राहुल कभी पीएम की शिक्षा को लेकर तो कभी उनकी जाति को लेकर टिप्पणी करते हैं इस बार तो उन्होंने ये कह दिया कि नरेंद्र मोदी जन्म से ओबीसी नहीं है, उनकी जाति को भाजपा ने ओबीसी में शामिल किया है। राहुल के बयान के बाद विवाद शुरू हो गया है और भाजपा ने इसपर आपत्ति जताई है।

फूलबाग चौराहे पर भाजपा ने जलाया राहुल गांधी का पुतला 

राहुल गांधी द्वारा पीएम मोदी, उनके जन्म और उनकी जाति को लेकर की गई टिप्पणी पर भाजपा ने आपत्ति जताई है। भाजपा पिछड़ा वर्ग मोर्चा ने राहुल गांधी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया, ग्वालियर में मोर्चा के पदाधिकारियों ने फूलबाग चौराहे पर प्रदर्शन किया और राहुल गांधी का पुतला जलाया।

भाजपा जिला अध्यक्ष अभय चौधरी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि राहुल गांधी हमेशा प्रधानमंत्री पर व्यक्तिगत टिप्पणी करते हैं जो राजनीति में ठीक बात नहीं है, वे हमेशा पीएम मोदी के बारे में ऐसी टिप्पणी करते हैं जिससे हमारे कार्यकर्ताओं की भावना आहत होती है।

भाजपा की चेतावनी- राहुल पीएम मोदी पर व्यक्तिगत टिप्पणी बंद करें 

अभय चौधरी ने चेतावनी देते हुए कहा कि राहुल गांधी अपनी इस तरह की बातों को बंद करें, कहीं ऐसा न हो कि जनता उन्हें किसी दूसरी भाषा में जवाब दे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस आज समाप्ति की तरफ है इसलिए कांग्रेस और उसके नेता बौखला रहे हैं लेकिन उन्हें पीएम मोदी जैसे विश्व में सम्मानित नेता के बारे में अनर्गल बोलना बंद करना चाहिए।

ग्वालियर से अतुल सक्सेना की रिपोर्ट 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News