गाड़ी रोकने पर भड़के भाजपा कार्यकर्ता, ट्रैफिक पुलिस पर लगाए अभद्रता करने के आरोप

मामले की सूचना मुरार के अन्य कार्यकर्ताओं को मिली तो वे भी धरना स्थल पर पहुंच गए। और महिला सूबेदार को हटाने की मांग करने लगे।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। गांधी जयंती पर सफाई अभियान में शामिल होकर लौट रहे भाजपा कार्यकर्ता (BJP Workers) उस समय भड़क गए जब आकाशवाणी तिराहे पर तैनात ट्रैफिक पुलिस (Traffic Police) की एक महिला अधिकारी ने एक कार्यकर्ता को रोक लिया और चलानी कार्रवाई की बात करने लगी। भाजपा कार्यकर्ता ने इसका विरोध किया और अपने साथियों को बुला लिया तो वहां विवाद शुरू हो गया। विवाद इतना बढ़ गया कि भाजपा कार्यकर्ता उत्तेजित हो गए और महिला अधिकारी को हटाने की मांग करते हुए सड़क पर धएने पर बैठ गए। मौके पर पहुंचे भाजपा नेताओं का कहना था कि महिला पुलिस अधिकारी ने उनके कार्यकर्ता के साथ अभद्र व्यहवहार किया और उस पर शराब  पीकर गाड़ी चलाने का झूठा आरोप लगाया।

गांधी जयंती के अवसर पर भगत सिंह मंडल और रामकृष्ण मंडल के कार्यकर्ता सफाई अभियान में शामिल होकर लौट रहे थे। इसी दौरान आकाशवाणी तिराहे पर ट्रैफिक पुलिस में तैनात एक महिला सूबेदार ने एक भाजपा कार्यकर्ता को रोक लिया। कुछ कमियां मिलने पर सूबेदार और भाजपा कार्यकर्ता के बीच मुंहवाद शुरु हो गया।

ये भी पढ़ें – Gold Silver Rate : चांदी की कीमत में बड़ी तेजी, सोना पुराने रेट पर, जानें ताजा भाव

सूचना मिलने पर मंडल अध्यक्ष उमेश भदौरिया पहुंच गए, लेकिन महिला अधिकारी अपनी बात पर अड़ी रही भाजपा कार्यकर्ता महिला पुलिस अधिकारी के व्यवहार से उखड़ गए और वहीं सड़क पर धरने पर बैठ गए। मामले की सूचना मुरार के अन्य कार्यकर्ताओं को मिली तो वे भी धरना स्थल पर पहुंच गए। और महिला सूबेदार को हटाने की मांग करने लगे।

ये भी पढ़ें – उपचुनाव से पहले मध्यप्रदेश को मिला नया NSUI अध्यक्ष, इन्हें मिली जिम्मेदारी

वार्ड नंबर 57 मुरार के पूर्व पार्षद ब्रजेश गुप्ता ने मीडिया को बताया कि हमारा एक कार्यकर्ता पीछे रह गया तो ट्रैफिक पुलिस में तैनात महिला सूबेदार ने उसे रोक लिया और अभद्र व्यवहार करते हुए उसपर शराब पीकर गाड़ी चलाने का आरोप लगाने लगी। मंडल अध्यक्ष पहुंचा तो उनसे भी अभद्रता की मैं भी पहुंचा तो उन्होंने मेरे साथ भी ठीक व्यवहार नहीं किया। भाजपा नेता ने कहा कि जब भाजपा की सरकार में भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ इस तरह का व्यवहार हो रहा है तो आम जनता के साथ ये कैसा व्यवहार करते होंगे। इसलिए हमने मैडम को हटाने की हटाने मांग करते हुए धरना दिया।

ये भी पढ़ें – Bigg Boss 15 : आज से धूम मचाने के लिये तैयार है बिग बॉस 15, जानिए कौन-कौन लेने वाले हैं घर में एंट्री

विवाद की जानकारी मिलते ही ट्रैफिक डीएसपी नरेश अन्नोटिया भी मौके पर पहुंचे उन्होंने भाजपा नेताओं और  कार्यकर्ताओं को समझाया और मामला शांत कराया। डीएसपी नरेश अन्नोटिया ने कहा कि विवाद जैसी कोई बात नहीं है  कुछ कहा सुनी हो गई थी, मामला सुलझ गया है।