ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न तोमर पर कांग्रेस का हमला, वचन पत्र को झूठ पत्र कहने पर किया पलटवार, 1 रुपया मांगने पर कसा तंज

BJP - CONGRESS

Gwalior News : मप्र विधानसभा चुनावों में मतदान से पहले नेताओं के बीच बयान युद्ध जारी है, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर अपनी विधानसभा क्षेत्र की जनता से पिछली बार की तरह इस बार भी 1 रुपया मांग रहे हैं, जिसपर कांग्रेस ने तंज कसा है उधर कांग्रेस के वचन पत्र को झूठ पत्र बताने पर भी कांग्रेस ने ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर पर पलटवार किया है।

कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक बोले, ऐसी बातें ऊर्जा मंत्री के मुंह को शोभा नहीं देती 

ग्वालियर दक्षिण विधानसभा से कांग्रेस विधायक और पार्टी प्रत्याशी प्रवीण पाठक ने वचन पत्र के सवाल पर ऊर्जा मंत्री पर हमला करते हुए कहा कि वचनों की बात कौन कर रहा है? सिद्धांतों की बात कौन कर रहा है? एक ऐसा व्यक्ति जिसके जीवन में ना वचन हैं ना सिद्धांत हैं, जिसने अपनी माँ समान पार्टी की हत्या की हो जिसने उसकी राजनीतिक पहचान बनाई हो ऐसे व्यक्ति के मुंह से ऐसी बातें शोभा नहीं देती, ऊर्जा मंत्री द्वारा क्षेत्र की जनता से 1 रुपये मांगे जाने के सवाल पर प्रवीण पाठक ने कहा कि चार लाख करोड़ का कर्जा एमपी पर है, 50 प्रतिशत कमीशन वाली सरकार है,  इनकी यही नौबत आने वाली है इन्हें पैसे मांगने ही पड़ेंगे।

कांग्रेस विधायक सतीश सिकरवार ने 1 रुपये मांगने पर कसा ये तंज 

उधर ग्वालियर पूर्व विधानसभा से कांग्रेस विधायक और पार्टी प्रत्याशी डॉ सतीश सिंह सिकरवार ने कहा कि प्रद्युम्न सिंह तोमर को वचनों और सिद्धांतो पर कुछ कहने का अधिकार ही नहीं है, 1 रुपया मांगे जाने के सवाल पर कांग्रेस विधायक ने कहा कि बात 1 रुपये की नहीं है, उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि जब होलिका दहन होता है उसमे जो डाढा गढ़ता है उसके नीचे एक रुपया दबाया जाता है,  अब इनका भी दहन होने वाला है तो साथ में 1 रुपया लेकर जायेंगे,इसलिए मांग रहे हैं।

ग्वालियर से अतुल सक्सेना की रिपोर्ट 


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News